X

Fact Check: फेसबुक कंपनी का नाम बदलने के साथ नहीं बदल रही डेटा पॉलिसी, वायरल दावा फेक

फेसबुक की कंपनी के नाम में बदलाव होने के साथ ही उसकी डेटा पॉलिसी और सेवा शर्तों में बदलाव किए जाने के दावे के साथ वायरल पोस्ट फर्जी है। कंपनी के नाम में बदलाव से उसकी डेटा पॉलिसी और सेवा शर्तों में कोई बदलाव नहीं हो रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 23, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। फेसबुक के कंपनी का नाम बदल कर मेटा किए जाने के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे कई मैसेज में यह दावा किया जा रहा है कि कंपनी का नाम बदलने के साथ ही उसकी प्राइवेसी पॉलिसी में भी बदलाव होने जा रहा है, और इन बदलावों के बाद कंपनी को यूजर्स की तस्वीरों और अन्य निजी जानकारियों का इस्तेमाल करने की अनुमति मिल जाएगी। वहीं, कुछ अन्य मैसेज में यूजर्स से वायरल मैसेज को कॉपी-पेस्ट करने की अपील की गई है, ताकि वह नई प्राइवेसी पॉलिसी के खिलाफ अपनी आपत्ति दर्ज करा सकें।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। यह पहली बार नहीं है, जब सोशल मीडिया पर फेसबुक की प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर इस तरह का दावा वायरल हुआ है। फेसबुक की कंपनी के नाम में बदलाव से डेटा पॉलिसी और सेवा की शर्तों में कोई बदलाव नहीं होगा, बल्कि यह पूर्व की ही तरह रहेंगी।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘اعجاز تیلی’ने वायरल दावा को शेयर करते हुए लिखा है, ”The new Facebook/Meta rule starts tomorrow where they can use your photos. Don’t forget the deadline is today! This could be used in lawsuits against you. Everything you’ve ever posted is posted today – even messages that have been deleted. It doesn’t cost anything, just copy and post, better than regretting later. Under UCC Law Sections 1-207, 1-308… I am imposing my Reservation of Rights… I DO NOT ALLOW Facebook/Meta or any other Facebook/Meta related person to use my photos, information, messages or messages, both in the past and in the future. I m not giving Facebook.Meta permission to share my information posted on their website. Photos, Current or Past, Publication, Phone Number or Post….Absolutely nothing can be used in any form of without my explicit written permission.”

कई अन्य यूजर्स ने भी इस मैसेज को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

फेसबुक की डेटा पॉलिसी में बदलाव को लेकर वायल हो रहा फर्जी मैसेज

पड़ताल

न्यूज रिपोर्ट्स के मुताबिक, फेसबुक ने अपनी कंपनी के नाम को बदलकर उसे मेटा कर दिया है। फेसबुक ने अपनी वेबसाइट पर भी इसकी जानकारी दी है, जिसके मुताबिक 28 अक्टूबर को फेसबुक ने अपनी कंपनी का नाम बदलकर उसे मेटा किए जाने की सूचना दी है।

दी गई जानकारी में यह बताया गया है कि कंपनी के नाम में बदलाव के बावजूद उसके कॉरपोरेट ढांचे में कोई बदलाव नहीं होगा। प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव किया जाना अपने आप में बड़ी खबर होती है। हालांकि, सर्च में हमें ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली, जिसमें फेसबुक की कंपनी के नाम में बदलाव के साथ ही यूजर की प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव किए जाने का जिक्र हो।

इस मामले में ज्यादा जानकारी के लिए हमने फेसबुक की डेटा पॉलिसी को चेक किया। डेटा पॉलिसी में इस बात की स्पष्ट रूप से जानकारी दी गई है कि फेसबुक कंपनी का नाम अब मेटा है और नाम में बदलाव के बावजूद मौजूदा डेटा पॉलिसी और सेवा की शर्तों में कोई बदलाव नहीं होगा।

इसमें कहा गया है, The Facebook company is now Meta. While our company name is changing, we are continuing to offer the same products, including the Facebook app from Meta. Our Data Policy and Terms of Service remain in effect, and this name change does not affect how we use or share data. Learn more about Meta and our vision for the metaverse.’

हिंदी में इसे ऐसे पढ़ा जा सकता है, ‘फेसबुक कंपनी अब मेटा है। हमारी कंपनी का नाम बदल रहा है, हम उन्हीं उत्पादों की पेशकश जारी रख रहे हैं, जिनमें मेटा का फेसबुक एप भी शामिल है। हमारी मौजूदा डेटा नीति और सेवा की शर्तें वहीं रहेंगी और नाम में किया गया बदलाव हमारे डेटा का उपयोग या साझा करने के तरीके को प्रभावित नहीं करता है।’

हमारी पड़ताल से यह स्पष्ट है कि फेसबुक की कंपनी के नाम के बदले जाने से डेटा नीति और प्राइवेसी की शर्तों में कोई बदलाव नहीं होने जा रहा है। इससे पहले एक अन्य वायरल मैसेज में दावा किया गया था कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक यूजर्स की न्यूज फीड को सीमित कर रहा है। विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में इस दावे को फेक पाया था। संबंधित फैक्ट चेक रिपोर्ट्स को यहां पढ़ा जा सकता है।

निष्कर्ष: फेसबुक की कंपनी के नाम में बदलाव होने के साथ ही उसकी डेटा पॉलिसी और सेवा शर्तों में बदलाव किए जाने के दावे के साथ वायरल पोस्ट फर्जी है। नाम में बदलाव से प्राइवेसी पॉलिसी में कोई बदलाव नहीं हो रहा है।

  • Claim Review : फेसबुक की कंपनी के नाम में बदलाव के साथ ही बदल रही कंपनी की प्राइवेसी पॉलिसी
  • Claimed By : FB User-Suneel Kaur
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later