X

Fact Check : तस्‍वीर में दिख रहीं बोरियों का जियो कंपनी से नहीं है कोई संबंध

  • By Vishvas News
  • Updated: December 27, 2020

नई दिल्‍ली (Vishvas News)। दिल्‍ली की सीमाओं पर किसान आंदोलन के बीच सोशल मीडिया में कुछ तस्‍वीर वायरल हो रही हैं। इसमें बोरियों के ऊपर जियो लिखा हुआ नजर आ रहा है। यूजर्स दावा कर रहे हैं कि ये बोरियां मुकेश अंबानी की कंपनी जियो की हैं। जियो किसानों से सस्‍ते में अनाज खरीद रहा है।

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की जांच की। इस संबंध में हमने जियो के वरिष्‍ठ अफसरों से बात की। उन्‍होंने वायरल पोस्‍ट के दावों को झूठा बताया।

क्‍या हो रहा है वायरल

जियो बैग की कई तस्‍वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं। नीले, सफेद और लाल रंग के बैग की इन तस्‍वीरों को मुकेश अंबानी की कंपनी का बताकर यूजर शेयर कर रहे हैं।

फेसबुक यूजर Tinku Lotey ने 23 दिसंबर को एक पोस्‍ट करते हुए लिखा : ‘कानून बनने से पहले ही थैले भी बन गए थे और सभी तैयारियां पूरी हो गई थी। अभी भी लोग समझते है कि सेठ जी के आदेश पर चौकीदार काम नहीं करता।’

पोस्‍ट को सच मानकर कई यूजर इसे शेयर कर रहे हैं। पोस्‍ट का आर्काइव्‍ड वर्जन देखें।

फेसबुक यूजर अनिकेत सिंह ने भी 24 दिसंबर को जियो बैग की कई तस्‍वीरों को अपलोड करते हुए दावा किया : ‘DEKH LO ANDHBHAKTO KRISHI KANOON K PAHLE HI JIO KI PACKING START HO CHUKI THI SAMBHAL JAO ABHI BHI WAKT HAI KISHANO KA SATH DO WARNA ANARTH HO JAYEGA…..’

इसी तरह Kaur Sister’s नाम की एक यूजर ने बैग की तीन अलग-अलग तस्‍वीरों को शेयर करते हुए दावा क‍ि‍या : ‘कानून बाद में बने है और थैले पहले 🙄 ये तस्वीर बहुत कुछ कह रही है ।।। अब तो समझ जाओ।’

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने सबसे पहले जियो और रिलायंस की वेबसाइट को खंगाला, ताकि हमें यह पता चल सके कि क्‍या जियो के नाम से रिलायंस का कोई फूड प्रोडक्‍ट का बिजनेस भी है क्‍या? वेबसाइट खंगालने के बाद हमे ऐसा कुछ नहीं मिला। जियो और रिलायंस की वेबसाइट को यहां और यहां देखा जा सकता है। रिलायंस जियो मार्ट के माध्‍यम से ऑनलाइन ग्रोसरी शॉपिंग की जा सकती है।

विश्‍वास न्‍यूज ने सच जानने के लिए रिलायंस इंडस्‍ट्रीज और जियो कंपनी के अधिकारियों से संपर्क किया। रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड में कॉरपोरेट कम्युनिकेशन के वाइस-प्रेसिडेंट तुषार पानिया ने वायरल पोस्‍ट को फेक बताया। वहीं, रिलायंस जियो के फ्रैंको विलियम ने विश्‍वास न्‍यूज को बताया कि वायरल पोस्‍ट झूठी हैं। ये लोग हमारे ब्रांड का दुरुपयोग कर रहे हैं।

पड़ताल के अंत में हमने फर्जी पोस्‍ट करने वाले यूजर की जांच की। हमें पता चला कि Tinku Lotey नाम का पेज पंजाब से संबंध रखा है।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में जियो के नाम से वायरल हो रहीं बैग की तस्‍वीरों का मुकेश अंबानी की कंपनी जियो से कोई संबंध नहीं है।

  • Claim Review : अंबानी की कंपनी की बैग
  • Claimed By : फेसबुक यूजर Tinku Lotey
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later