X

Quick Fact Check: सोनिया गांधी की यह तस्वीर एडिटेड है; गलत दावा फिर से वायरल

हमारी पड़ताल हमने पाया कि सोनिया गांधी की वायरल तस्वीर मॉर्फ्ड है, असली वीडियो में इस तरह की कोई किताब या स्टैचू सोनिया गांधी के पीछे नहीं था।

  • By Vishvas News
  • Updated: September 24, 2021

नई दिल्‍ली (Vishvas News)। सोनिया गांधी की एक तस्वीर एक बार फिर से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें उनके पीछे कुछ किताबें नजर आ रही हैं। इनमें से एक किताब का नाम “हाउ टू कन्वर्ट इंडिया इन टू ए क्रिश्चिन नेशन” है, जबकि साथ में बाइबल और नीचे जीसस क्राइस्ट का स्टैचू भी रखा दिख रहा है। विश्वास न्यूज ने ऐसे ही एक पोस्ट की पहले भी पड़ताल की थी। उस समय हमने पाया था कि वायरल तस्वीर एडिट की गई है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पेज Pushpendra kulshrestha fens club में यह तस्वीर शेयर करते हुए लिखा गया है : “इस विषाक्त महिला की सच्चाई देखिए…पीछे शेल्फ पर एक book पड़ी है, जिसका शीर्षक है.. How to convert India into christian nation’ इसके पश्चात भी यदि किसी को संदेह है तो बेशक वह हिन्दू हो ही नहीं सकता।”

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने ऐसे ही एक पोस्ट की पहले भी पड़ताल की थी। उस समय विश्वास न्यूज ने वायरल तस्वीर की पड़ताल करने के लिए गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से इसे ढूंढा था। हमें इंडियन नेशनल कांग्रेस के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो मिला था। वायरल तस्वीर इसी वीडियो में से ली गयी थी। हालांकि, इस वीडियो में सोनिया गांधी के पीछे न तो कहीं बाइबल या जीसस क्राइस्ट का स्टैचू दिखाई देता है और न ही नीली बुक का टाइटल “हाउ टू कन्वर्ट इंडिया इन टू ए क्रिश्चियन नेशन” है।

इस वीडियो में सोनिया गांधी 2020 में बिहार विधानसभा चुनाव से पहले बिहार की जनता को संबोधित कर रहीं थीं। इस वीडियो को सबसे पहले अक्टूबर 2020 में राहुल गांधी ने साझा किया था।

ज्यादा जानकारी के लिए विश्वास न्यूज़ ने कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा से संपर्क किया था। उन्होंने भी यह बताया था कि वायरल तस्वीर मॉर्फ्ड है, जबकि असली तस्वीर में इस तरह की कोई किताब या स्टैचू नहीं था। उन्होंने बताया था कि इस तस्वीर को लेकर उन्होंने एफआईआर भी दर्ज करवाई थी।

अब बारी थी फेसबुक पर तस्वीर को साझा करने वाले पेज Pushpendra kulshrestha fens club की प्रोफाइल को स्कैन करने का। प्रोफाइल को स्कैन करने पर हमने पाया कि खबर लिखे जाने तक इस पेज के 33,804 सदस्य थे।

पूरी पड़ताल यहाँ पढ़ें।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल हमने पाया कि सोनिया गांधी की वायरल तस्वीर मॉर्फ्ड है, असली वीडियो में इस तरह की कोई किताब या स्टैचू सोनिया गांधी के पीछे नहीं था।

  • Claim Review : इस विषाक्त महिला की सच्चाई देखिए…पीछे शेल्फ पर एक book पड़ी है, जिसका शीर्षक है.. How to convert India into christian nation' इसके पश्चात भी यदि किसी को संदेह है तो बेशक वह हिन्दू हो ही नहीं सकता।
  • Claimed By : Pushpendra kulshrestha fens club
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later