पटना

पटना पहुंचा 'विश्वास न्यूज' का 'सच के साथी- हेल्‍थ फैक्ट चेक' कैंपेन, कोरोना वायरस पर फैलाई जागरूकता

पटना , जेएनएन। कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। चीन में फैले इस वायरस से दुनिया के कई देश परेशान हैं। दक्षिण कोरिया और इटली में भी हालात खराब हैं। इन देशों में सार्वजनिक रूप से इकठ्ठा होने पर रोक लगाई गई है। चीन की सीमा सेटे होने के कारण इस वायरस को लेकर भारत में भी डर का माहौल है। इस माहौल में सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं फर्जी/गलत सूचनाओं के कारण स्थिति खराब हो रही है। 

ऐसे में 'विश्वास न्यूज़' ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं फर्जी/गलत सूचनाओं के खिलाफ जंग छेड़ी है।  फेसबुक के साथ मिलकर स्वास्थ्य से जुड़ी अफवाह-भ्रामक सूचनाओं के खिलाफ मीडिया लिटरेसी और जागरूकता अभियान के लिए  'सच के साथी- हेल्‍थ फैक्ट चेक' कैंपेन चला रहा है। इसके देश प्रमुख छह शहरों में वर्कशॉप का आयोजन किया जा रहा है। इस वर्कशॉप में नोवल कोरोना वायरस के खिलाफ लोगों को जागरूक किया जा रहा है।


'विश्वास न्यूज' का  'सच के साथी- हेल्‍थ फैक्ट चेक' कैंपेन बिहार के राजधानी पटना पहुंचा। यहां दो सत्रों में वर्कशॉप आयोजित कर लोगों को जागरूक किया गया। पहले सत्र में युवाओं को सच और गलत तथ्यों के बीच पहचान करना सीखाया गया। युवाओं में वर्कशॉप को लेकर जोश देखा गया है। वहीं, दूसरे सत्र में महिलाएं और वरिष्ठ नागरिकों ने ट्रेंनिग ली। कार्यक्रम के दौरान 'जागरण न्‍यू मीडिया' और 'विश्‍वास न्‍यूज' के सीनियर एडिटर प्रत्‍यूष रंजन के साथ वरिष्‍ठ सहयोगी पल्लवी मिश्रा ने भी प्रतिभागियों की जिज्ञासाओं का विस्‍तार से जवाब दिया। 


'सच के साथी- हेल्‍थ फैक्ट चेक' में भाग लेने वाले लोगो को सहभागिता प्रमाण पत्र भी दिया गया। ट्रेनिंग लेने वाले लोगों को 'फैक्‍ट चेक चैम्‍प' कहा जा रहा है। अब ये अपने सोशल सर्किल (परिवार, दोस्त और सहकर्मी) के लोगों को स्वास्थ्य से जुड़ी गलत सूचनाओं के खिलाफ जागरूक करेंगे। आपको बता दें कि इससे पहले दिल्ली, भोपाल, चंडीगढ़, भोपाल और लखनऊ में इस वर्कशॉप का आयोजन कराया जा चुका है। पटना के बाद अब वारणासी में भी लोगों को जागरूक किया जाएगा।


विश्वास न्यूजः सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस से जुड़े संदेश को साझा करने से पहले करें जांच

पटना, जेएनएन। देश में कोरोना वायरस को लेकर बहुत सारी भ्रांतियां हैं और डर का माहौल बना हुआ है। सोशल मीडिया पर भी इसको लेकर कई सारी गलत और अधूरी जानकारियां दी जा रही हैं। एेसे में लोगों को जागरुक करने के लिए दैनिक जागरण न्यूज मीडिया की फैक्ट चेकिंग एजेंसी ‘विश्वास न्यूज, सच के साथी’ की ओर से हेल्थ फैक्ट चेकिंग वर्कशॉप का आयोजन किया जा रहा है। गुरुवार को पीएंडएम मॉल के नजदीक होटल पाईन में फेसबुक की साझेदारी से कार्यक्रम की शुरुआत हो चुकी है।

संदेश को आगे बढ़ाने से पहले करें जांच


पहले सत्र को संबोधित करते हुए प्रत्युष एवं पल्लवी मिश्रा ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया जैसे वाट्सएप और फेसबुक पर अफवाह फैलाने वाले काफी मैसेज आ रहे हैं। एेसे में किसी भी संदेश को आगे बढ़ाने से पहले उसकी जांच कर लें। खुद भी तय करें कि क्या सही है क्या गलत।


जल्दबाजी में न फैलाएं भ्रांतियां


एक्सपर्ट ने कहा कि कई बार वाट्सएप ग्रुप पर वीडियो और मैसेज आने पर हम पहले होने की कोशिश में भ्रामक संदेश एक-दूसरे को भेज देते हैं। ऐसा करने से हमें बचना चाहिए। बेवसाइट के लिंक और यूआरएल की जांच कर लेनी चाहिए। इंटरनेट पर मिलने वाले सभी तथ्य सही हों ये जरूरी नहीं है।


नामी वेबसाइट के यूआरएल की भी करें जांच


विश्वास न्यूज के एक्सपर्ट ने बताया कि आजकल कई नामी वेबसाइट से मिलती-जुलती फेक साइट भी बना दी जाती है। सच जानने के लिए हमें साइट के यूआरएल को ध्यान से देखना चाहिए। फर्जी वेबसाइट की स्पैलिंग में अंतर होता है। एेसे में कोराना वायरस जैसी बीमारी को लेकर इंटरनेट पर जानकारी हासिल कर किसी अन्य को साझा करने से पहले हमें यूआरएल की पड़ताल करनी चाहिए।


हर वेब पेज के स्रोत की करें जांच


पल्लवी मिश्रा ने कहा कि अकसर हम बिना सोचे-समझे किसी भी वेब एड्रेस पर क्लिक कर देते हैं, एेसा कभी नहीं करना चाहिए। इससे हमारे फोन और कंप्यूटर में सेव व्यक्तिगत जानकारी हैक हो सकती है। हमें वेब पेज के स्रोत की जांच करने के बाद ही उसपर भरोसा जताना चाहिए। आयोजन के दौरान बड़ी संख्या में मौजूद लोगों ने मन में उठे सवाल को पूछकर अपनी जिज्ञासा शांत की


फैक्ट चेकिंग के लिए इस टूल का करें इस्तेमाल


एेक्सपर्ट ने बताया कि Incident टूल के जरिये सोशल मीडिया पर तेजी से फैलने वाले फेक वीडियो की सत्यता जांची जा सकती है। फैक्ट चेकर भी इसी टूल का इस्तेमाल करते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए ब्राउजर में इसके एक्सटेंशन को प्लग इन करना पड़ता है। जिसके बाद इस टूल को एक्सेस किया जा सकता है। वहीं तस्वीरों की जांच के लिए Handed का इस्तेमाल करें। ये एक रूसी वेबसर्च इंजन है। जो गूगल रिवर्स की तरह काम करता है। इस टूल की मदद से रूस और उसके आसपास के इलाकों की तस्वीरों को सर्च किया जा सकता है। इसके लिए yandex.com जानकारी प्राप्त की जा सकती है।


कार्यक्रम में सभी को मुफ्त प्रवेश


कार्यक्रम में शामिल होने के लिए किसी तरह के पास की जरूरत नहीं है। आप मुफ्त में कोरोना वायरस को लेकर अपने मन में उठ रहे सवालों को पूछकर अपनी भ्रांतियों को शांत कर सकते हैं।


Editorial Coverage

कार्यक्रम

20

Feb 2020
  • पहला सेशन

    युवाओं के लिए - 10:00 AM to 12:00 PM

20

Feb 2020
  • दूसरा सेशन

    महिलाएं व वरिष्‍ठ नागरिक - 03:00 PM to 5:00 PM

स्थान : HOTEL LE CADRE, E-23, East Of Kailash,Near Kailash Colony Metro Station,New Delhi - 110065.

22

Feb 2020
  • पहला सेशन

    युवाओं के लिए - 10:00 AM to 12:00 PM

22

Feb 2020
  • दूसरा सेशन

    महिलाएं व वरिष्‍ठ नागरिक - 03:00 PM to 5:00 PM

Venue: Hotel Signetic Blue. R68, Habibganj Rd, GRP Colony, Zone-II, Maharana Pratap Nagar, Bhopal, Madhya Pradesh 462011.

23

Feb 2020
  • पहला सेशन

    युवाओं के लिए - 10:00 AM to 12:00 PM

23

Feb 2020
  • दूसरा सेशन

    महिलाएं व वरिष्‍ठ नागरिक - 03:00 PM to 5:00 PM

स्थान : HOTEL RAJSHREE, Plot No. 181/45, Industrial and Business Park, Phase-1, Chandigarh-160002.

25

Feb 2020
  • पहला सेशन

    युवाओं के लिए - 10:00 AM to 12:00 PM

25

Feb 2020
  • दूसरा सेशन

    महिलाएं व वरिष्‍ठ नागरिक - 03:00 PM to 5:00 PM

स्थान:Golden Tulip, 6, Station Rd, Udaiganj, Husainganj, Lucknow, Uttar Pradesh 226001.

27

Feb 2020
  • पहला सेशन

    युवाओं के लिए - 10:00 AM to 12:00 PM

27

Feb 2020
  • दूसरा सेशन

    महिलाएं व वरिष्‍ठ नागरिक - 03:00 PM to 5:00 PM

स्थान: THE PINE, C-24, Paltiputra Main Road, Near P & M Mall, Bihar 800013.

29

Feb 2020
  • पहला सेशन

    युवाओं के लिए - 10:00 AM to 12:00 PM

29

Feb 2020
  • दूसरा सेशन

    महिलाएं व वरिष्‍ठ नागरिक - 03:00 PM to 5:00 PM

स्थान: HOTEL PLAZA INN, S 21, 116 H, Parade Kothi Rd, Pared Kothi, Vijay Nagar Colony, Varanasi cantonment, Varanasi, Uttar Pradesh 221002.