नई दिल्ली, जेएनएन। छत्तीसगढ़ हमले का एक वीडियो आज कल वायरल हो रहा है जहाँ एक दूरदर्शन के कर्मचारी को घायल अवस्था में अपने परिजनों के लिए एक सन्देश देते सुना और देखा जा सकता है। इस वीडियो के बैकग्राउंड में गोलियों की आवाज़ भी साफ सुनी जा सकती है।

माँ, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ, मैं आज मर सकता हूं लेकिन मुझे डर नहीं लग रहा, हो सकता है इस हमले में मैं मारा जाऊं”। हिंदी दैनिक पंजाब केसरी के फेसबुक पेज ने भी इस वीडियो को पोस्ट किया और लिखा, “यह डीडी कैमरामैन का आखिरी क्षण है जो फायरिंग में मारा गया था”.

असल में इस वीडियो में मौजूद व्यक्ति दूरदर्शन के कैमरामैन बालकृष्ण हैं और एक स्टोरी के लिए दंतेवाड़ा में थे। उसी समय नक्सलियों ने हमला कर दिया। हमले के दौरान उन्हें अपनी जान को खतरे का अहसास हुआ तो उन्होंने ये वीडियो शेयर किया। बालकृष्ण इस हमले से सही-सलामत बच गए और ज़िंदा हैं।

इस फोटो को अनेकों बार फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सऐप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर शेयर किया गया।

बुधवार, अक्टूबर 31 को बालकृष्ण ने खुद एक वीडियो शूट कर यह स्पष्ट किया की वे ज़िंदा हैं और लोगों से विनती की कि उनकी मृत्यु की अफवाह फैलाना बंद करें।

पूरा सच जानें…सब को बताएं 

सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Claim Review : दावा किया गया था कि डीडी कैमरामैन नक्सलियों की फायरिंग में मारा गया है
Claimed By : punjab Kesari
Fact Check : False

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here