X

Fact Check: JEE 2020 के एग्जाम के दौरान लखनऊ के कुछ सेंटर्स पर परीक्षा रद्द होने का दावा फर्जी निकला

  • By Vishvas News
  • Updated: September 2, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि लखनऊ के कई सेंटर्स पर ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (जेईई) मेंस 2020 की परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में ये दावा फर्जी साबित हुआ है। यूपी की राजधानी लखनऊ के किसी भी सेंटर पर जेईई एग्जाम को रद्द नहीं किया गया है।

क्या है वायरल पोस्ट में

‘ऐसा मध्य प्रदेश’ नाम के ट्विटर यूजर ने अंग्रेजी में लिखा – In lucknow in many centres JEE paper cancelled. It’s better to postpone exam.
इसका अनुवाद है कि लखनऊ के कई सेंटर्स पर जेईई का पेपर रद्द कर दिया गया है। इससे तो अच्छा होता कि एग्जाम को स्थगित कर दिया जाता।

इस पोस्ट को 1 सितंबर, 2020 को शेयर किया गया था। इस पोस्ट का अर्काइव वर्जन यहां देखें।

इसी तरह की पोस्ट अन्य ट्विटर यूजर्स ने भी पोस्ट की है।

पड़ताल

जेईई एग्जाम के कथित रूप से रद्द होने के दावे को हमने पड़ताल करने का फैसला किया। सबसे पहले हमने गूगल पर सर्च किया कि ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (जेईई) मेंस 2020 का एग्जाम कब है। वहां से हमें जानकारी मिली कि 1 सितंबर को जेईई 2020 का पेपर था। हमने लखनऊ में एग्जाम रद्द होने से संबंधित खबर को गूगल पर सर्च किया, लेकिन हमें ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली। हमने दैनिक जागरण के लखनऊ एडिशन का ई-पेपर खंगाला। वहां पर हमें कुछ सेंटर्स पर एग्जाम रद्द होने की कोई सूचना नहीं मिली।

इस परीक्षा को कराने की जिम्मेदारी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) को दी गई थी। उसकी वेबसाइट देखने पर हमें एग्जाम के रद्द होने की कोई सूचना नहीं मिली।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने इस संबंध में ट्वीट करके जानकारी दी है। ट्वीट के अनुसार, ये झूठी सूचना है। लखनऊ के कृष्णा नगर और जानकीपुरम एक्सटेंशन में एग्जाम नहीं होने थे। एग्जाम योजना के तहत लखनऊ के अन्य सेंटर्स पर कराए गए।

इस संबंध में विश्वास न्यूज ने दैनिक जागरण के लखनऊ संवाददाता पुलक त्रिपाठी से बात की। उन्होंने बताया कि मंगलवार (1 सितंबर, 2020) को ज्वइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (जेईई) मेंस के तहत बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर का एग्जाम था। इस कोर्स के लिए कम प्रतिभागी थे। इसी कारण से 9 में से सिर्फ तीन सेंटर्स पर ये परीक्षा आयोजित कराई गई थी। उन्होंने कहा कि कम सेंटर्स पर परीक्षा होने के कारण परीक्षा रद्द की अफवाह फैलाई गई थी। लखनऊ में कुछ सेंटर्स पर परीक्षा रद्द होने की बात पूरी तरह फर्जी है।

‘ऐसा मध्य प्रदेश’ नाम के ट्विटर यूजर की सोशल स्कैनिंग में हमें पता चला कि ये मध्य प्रदेश से संबंधित है। इसके साथ ही इस यूजर ने ट्विटर पर जुलाई, 2020 में अकाउंट बनाया था।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में ये पोस्ट फर्जी पाई गई है। जेईई 2020 एग्जाम के दौरान लखनऊ में किसी भी सेंटर में परीक्षा को रद्द नहीं किया गया है।

  • Claim Review : JEE 2020 के एग्जाम के दौरान लखनऊ के कुछ सेंटर्स पर एग्जाम रद्द होने का दावा किया गया था।
  • Claimed By : ऐसा मध्य प्रदेश
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later