Fact Check: बांग्लादेश के फोटो को गलत सन्दर्भ में किया जा रहा है वायरल

नई दिल्ली (विश्वास टीम)।सोशल मीडिया पर आज कल एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें एक सड़क खूननुमा लाल पानी से भरी हुई है जिसपे एक रिक्शा चल रहा है। पोस्ट को लिखने के तरीके से लग रहा है कि इसे इंडिया का बताया जा रहा है। हमारी पड़ताल में हमने पाया कि ये दावा गलत है। असल में ये तस्वीर बांग्लादेश की राजधानी ढाका की है, जब 2016 में बकरीद के बाद वहां की सड़कों पर बारिश के पानी और क़ुर्बानी के खून से ऐसा हाल हुआ था।

CLAIM

वायरल पोस्ट में एक सड़क खूननुमा लाल पानी से भरी हुई है जिसपे एक रिक्शा चल रहा है। पोस्ट के साथ क्लेम लिखा है, “3 Cr जानवर कटे, 7 Cr लीटर खून बहा, 50 Cr लीटर पानी बहा, 60 हजार करोड़ रुपये स्वाहा…लेकिन,,, पर्यावरण प्रदूषण का ज्ञान होली और दीवाली पर ही मिलेगा🤔”

Fact Check

अपनी पड़ताल को शुरू करने के लिए हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। पड़ताल में हमें ये तस्वीर 2 बड़ी इंटरनेशनल न्यूज़ वेबसाइट्स, हफिंगटन पोस्ट डॉट कॉम और एक्सप्रेस डॉट को डॉट यूके पर मिली। ये दोनों ही खबरें सितम्बर 2016 की थीं और दोनों ही खबरें बांग्लादेश की राजधानी ढाका में बकरीद के बाद की हैं, जब वहां की सड़कों पर बारिश के पानी और क़ुर्बानी के खून से ऐसा हाल हुआ था।

हमें ये फोटो बांग्लादेश की एक लोकल न्यूज़ वेबसाइट ढाका ट्रिब्यून पर भी मिली, जिसमें भी इसे ढाका का ही बताया गया था।

हमने पुष्टि के लिए ढाका साउथ सिटी कॉरपोरेशन के मेयर सईद खोकॉन से बात की। उन्होंने कहा, “ये तस्वीर 2016 ढाका की है। ढाका साउथ सिटी कॉरपोरेशन हर साल बकरीद की क़ुर्बानी के लिए विशेष जगह अलॉट करती है पर उस वर्ष लोगों ने इन जगहों की बजाए अपने घरों के बाहर और अपने गैराजों में ही क़ुर्बानी कर दी थी। बारिश की वजह से हालत और बिगड़ गए थे। उसके बाद वेस्ट मैनेजमेंट टीम ने ज़्यादा पुख्ता इंतज़ाम किए और अब हालात बेहतर हैं।

इस पोस्ट को Harish Arora नाम के एक फेसबुक पेज पर शेयर किया गया था। इस पेज के अबाउट उस सेक्शन के मुताबिक ये पेज दिल्ली से संचालित किया जाता है। इस पेज के कुल 9,575 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि ये तस्वीर इंडिया की नहीं है। असल में ये तस्वीर बांग्लादेश की राजधानी ढाका की है, जब 2016 में बकरीद के बाद वहां की सड़कों पर बारिश के पानी और क़ुर्बानी के खून से ऐसा हाल हुआ था।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later