X

Fact Check: एडिडास नहीं दे रहा मुफ्त में जूते, सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज फर्जी

  • By Vishvas News
  • Updated: September 4, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि मशहूर कंपनी एडिडास अपनी 96वीं सालगिरह मना रही है और लोगों को 3100 जूते और टीशर्ट्स फ्री दे रही है। विश्वास न्यूज़ को फैक्ट चेकिंग वॉट्सऐप चैटबॉट (+91 95992 99372) पर भी कई यूजर्स की तरफ से फैक्ट चेकिंग के लिए ये मैसेज भेजा गया है। विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में यह मैसेज गलत पाया गया है।

क्या हो रहा है वायरल

विश्वास न्यूज़ को अपने वॉट्सऐप चैटबॉट पर एक मैसेज मिला। इस मैसेज का कंटेंट इंग्लिश में है। इसमें लिखा है, ‘Adidas is giving away 3100 Free Pair of Shoes and T-shirts to celebrate its 96th anniversary. Hurry Up! Get your free Pair of Shoes at : http://www.adidas.uk-size.club’ इसका हिंदी अनुवाद- ‘एडिडास अपनी 96वीं सालगिरह मनाने के लिए 3100 जोड़ी जूते और टी-शर्ट्स मुफ्त में दे रहा। जल्दी करें! अपने मुफ्त जूतों की जोड़ी के लिए पाएं : http://www.adidas.uk-size.club।’ लोगों को इस मैसेज में लिंक पर क्लिक करने की सलाह दी जा रही है।

हमने इस मैसेज को सोशल मीडिया के दूसरे प्लेटफॉर्म पर भी खोजने की कोशिश की। कमोबेश ऐसी ही दावे के साथ हमें फेसबुक पेज पर शेयर किया गया मैसेज मिला। इसमें 95वीं सालगिरह की बात कहते हुए 3100 जोड़ी जूते और 1800 टी-शर्ट्स मुफ्त देने की बात करते हुए ऐसे ही एक लिंक पर क्लिक करने को कहा जा रहा था। इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

आजकल फर्जी लिंक के माध्यम से स्कैम की घटनाएं काफी बढ़ गई हैं। हमने इस मैसेज की पड़ताल करने के लिए सबसे पहले जरूरी कीवर्ड्स से इंटरनेट पर सर्च किया। हमें ऐसी कोई प्रामाणिक रिपोर्ट नहीं मिली ,जो इस तरह के किसी दावे की पुष्टि करती हो। इसके उलट हमें ऐसे तमाम आर्टिकल्स मिले, जो एडिडास के नाम पर पहले चले स्कैम से बचने की सलाह दे रहे हैं। उन रिपोर्ट्स के स्क्रीनशॉट को नीचे देखा जा सकता है:

हमें गूगल सर्च के दौरान ऐसी वेबसाइट मिली, जिसपर वायरल मैसेज की तरह ही एडिडास के फ्री जूतों, टी-शर्ट्स मिलने का दावा किया जा रहा है। नीचे इस वेबसाइट के स्क्रीनशॉट को देखा जा सकता है:

हमने ऐसे ही दावे के साथ फेसबुक पर शेयर किए गए पोस्ट की भी पड़ताल की। इस पोस्ट में दिए गए लिंक पर क्लिक करने पर हमें एक यूट्यूब चैनल के सब्सक्राइब बटन पर रीडायरेक्ट किया जा रहा है। यानी यहां एडिडास का नाम गलत तरीके से इस्तेमाल कर अपने यूट्यूब चैनल के सब्सक्राइबर बढ़ाने की कोशिश की जा रही है।

हमें ट्विटर सर्च में पिछले साल अक्टूबर के दो ट्वीट मिला। ये दोनों ट्वीट एक ही यूजर ने किए हैं। इसमें एडिडास को टैग करते हुए इसी तरह के एक वायरल मैसेज के बारे में बताया गया है। यूजर के ट्वीट्स के स्क्रीनशॉट को नीचे देखा जा सकता है:

हमारी अबतक की पड़ताल में ये साबित हो गया कि ये मैसेज काफी दिनों से सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे हैं। हमने इस मैसेज का सच जानने के लिए सीधे एडिडास कंपनी से ही संपर्क किया।

एडिडास की तरफ से हमें मेल पर जवाब दिया गया कि कंपनी ऐसा कोई ऑफर नहीं चला रही है। एडिडास ने लोगों से इस तरह के किसी भी कॉल/मैसेज/ईमेल से बचने की सलाह दी है।

हमने वायरल मैसेज को शेयर करने वाले फेसबुक पेज News Updates की सोशल स्कैनिंग की। इस पेज को 29 दिसंबर 2018 को बनाया गया है। फैक्ट चेक किए जाने तक इस पेज को 10386 लोग फॉलो कर रहे थे।

निष्कर्ष: एडिडास के नाम पर वायरल हो रहा ये मैसेज फर्जी है। एडिडास की तरफ से फ्री में जूते और टीशर्ट नहीं मिले रहे। कंपनी ने ऐसे मैसेज से बचने की सलाह दी है।

  • Claim Review : मशहूर कंपनी एडिडास लोगों को जूते और टीशर्ट्स फ्री दे रही है
  • Claimed By : News Updates
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later