X

Fact Check: देवी दुर्गा का अपमान किए जाने के दावे के साथ वायरल वीडियो एडिटेड, स्मृति ईरानी के खिलाफ दुष्प्रचार की मंशा से किया जा रहा वायरल

देवी दुर्गा का अपमान किए जाने के दावे के साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसद में दिए गए भाषण का वायरल हो रहा वीडियो क्लिप वास्तव में 2016 में लोकसभा में रोहित वेमुला और जेएनयू पर हुई बहस को लेकर उनकी तरफ से दिए गए जवाब के वीडियो का एक अंश है, जिसे उसके संदर्भ से अलग कर साझा किए जाने से उल्टा मतलब निकलता प्रतीत हो रहा है। वास्तव में उन्होंने जेएनयू में बांटे एक पर्चे को पढ़ते हुए विपक्ष पर हमला बोला था, जिसमें देवी दुर्गा के बारे में अपमानजनक टिप्पणियां की गई थीं। हालांकि, वायरल क्लिप में केवल उन्हें इस बयान को पढ़ते हुए दिखाया जा रहा है, जिससे ऐसा लग रहा है कि स्मृति ईरानी ने देवी दुर्गा के बारे में विवादित टिप्पणी की, जबकि वह विवादित बयान को पढ़ने से पहले साफ-साफ इस बात का उल्लेख करती हैं कि यह जेएनयू में बांटा गया पर्चा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: July 15, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का लोकसभा में दिए गए भाषण का एक वीडियो क्लिप वायरल हो रहा है, जिसे लेकर दावा किया जा रहा है कि उन्होंने देवी दुर्गा के बारे में विवादित और अपमानजनक टिप्पणी की।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत और दुष्प्रचार निकला। वास्तव में स्मृति ईरानी ने साल 2016 में लोकसभा में जेएनयू में महिषासुर वध के विरोध में आयोजित होने वाले कार्यक्रम का जिक्र करते उस पर्चे को पढ़ा था, जिसे 10 फरवरी 2016 को जेएनयू में वितरित किया गया था। इस पर्चे में देवी दुर्गा के बारे में बेहद आपत्तिजनक टिप्पणियां की गई थीं, जिसे स्मृति ईरानी ने सदन में पढ़ते हुए विपक्ष पर हमला बोला था। उनके इसी भाषण के छोटे से अंश को सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है, जिससे लग रहा है कि उन्होंने देवी दुर्गा के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की। सोशल मीडिया पर आम तौर पर मूल संदर्भ से अलग कर ऐसे छोटे वीडियो को वायरल किए जाने का ट्रेंड है, जिससे उसके मायने मतलब पूरी तरह से बदल जाते हैं। एडिटिंग की मदद से दुष्प्रचार की मंशा के साथ ऐसे वीडियो क्लिप को वायरल किया जाता रहा है और यह वीडियो क्लिप भी उसी श्रेणी का है।

क्या है वायरल?

फेसबुक यूजर ‘Sourav Adhikary’ ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”’#মাদূর্গা প্রসংগে সেদিনের #স্মৃতিইরানির কুৎশিত মন্তব্য ভুলে গেলে চলবে না বন্ধুগণ‼
স্মৃতি ইরানিকে #কে #কখন #কোন_অবস্থায় মা দূর্গা প্রসংগে কুৎসিত মন্তব্য করেছে যা স্মৃতি ইরানি ছাড়া আর কেউ জানে না‼’

(”भूले नहीं #स्मृतिइरानी का उस दिन #मादुर्गा पर भद्दा कमेंट दोस्तों…स्मृति ईरानी #K #Khon #Kon_Usasthan ने मां दुर्गा के बारे में भद्दे कमेंट किए जो स्मृति ईरानी के अलावा कोई नहीं जानता।”)

वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट

पड़ताल

वायरल हो रहा वीडियो 34 सेकेंड का है और यह लोकसभा में दिए गए भाषण से संबंधित है। स्पष्ट है कि इस वीडियो क्लिप को एडिट कर तैयार किया गया है, जिससे इसके संदर्भ का पता नहीं चल पा रहा है।

इनविड टूल की मदद से निकाले गए की-फ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने पर यह वीडियो भारतीय जनता पार्टी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर इस प्रसंग से संबंधित ओरिजिनल वीडियो मिला, जिसे 24 फरवरी 2016 को अपलोड किया गया है। वीडियो के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, यह जेएनयू और रोहित वेमुला पर हुए डिबेट पर स्मृति ईरानी की तरफ से दिया गया जवाब है।

करीब 48 मिनट के वीडियो में हमें 31.48 मिनट का फ्रेम वही है, जो वायरल हो रहा वीडियो क्लिप है।

स्पष्ट है कि स्मृति ईरानी के लोकसभा में दिए गए भाषण का वायरल हो रहा वीडियो क्लिप 2016 का है और यह जेएनयू और रोहित वेमुला के मुद्दे पर हुए बहस को लेकर उनकी तरफ से दिया गया जवाब था, जिसके दौरान उन्होंने जेएनयू कैंपस में वितरित किए गए पर्चे को पढ़ा था, जिसमें देवी दुर्गा के बारे में बेहद अपमानजनक टिप्पणी की गई थी। वायरल हो रहा वीडियो उनके इसी भाषण का अंश है, लेकिन उसमें केवल उन्हें पर्चे को पढ़ते हुए देखा जा सकता है, जबकि पर्चे को पढ़ने से पहले वह साफ-साफ इस बात का उल्लेख करती हैं कि यह जेएनयू कैंपस में वितरित किया गया पर्चा है। वायरल वीडियो क्लिप में उनके इस बयान वाले फ्रेम को जानबूझकर हटा दिया गया है।

एनडीटीवी की वेबसाइट पर 26 फरवरी को प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, विपक्ष ने देवी दुर्गा के बारे में विवादित संदर्भ का उल्लेख किए जाने को लेकर स्मृति ईरानी से माफी मांगे जाने की अपील की है, लेकिन मंत्री ईरानी अपने रुख पर अड़ी रही। रिपोर्ट के मुताबिक, ‘(तत्कालीन) शिक्षा मंत्री ने जेएनयू कैंपस में कथित रूप से बांटे एक पर्चे को पढ़ा था, जिसमें देवी दुर्गा के बारे में अपमानजनक टिप्पणियां की गई थीं।’ उन्होंने कहा, ‘ये सरकार के दस्तावेज नहीं है। मैं इसे पढ़ रही हूं, क्योंकि मुझसे पूछा गया कि क्या सबूत है।’

एनडीटीवी की वेबसाइट पर 26 फरवरी को प्रकाशित रिपोर्ट

कई न्यूज रिपोर्ट्स में भी इसका जिक्र है। इंडिया टीवी की वेबसाइट पर मौजूद रिपोर्ट के मुताबिक, ‘मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने लोकसभा में बुधवार को जेएनयू में महिषासुर वध के विरोध में आयोजित होने वाले कार्यक्रम का जिक्र करते हुए कहा कि दलित और पिछड़े वर्ग के छात्र मां दुर्गा का अश्लील चित्रण करते हैं। इस मुद्दे पर आज राज्यसभा में हंगामा हुआ। विपक्ष इस मुद्दे पर स्मृति ईरानी से माफी की मांग कर रहा है। राज्यसभा में कांग्रेस के सदस्य आनंद शर्मा ने कहा कि सदन में दुर्गा का अपमान किया गया और हम देवी दुर्गा का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने स्मृति से इस बयान को लेकर माफी मांगने को कहा।’

वायरल वीडियो क्लिप को लेकर हमने पीटीआई-भाषा के संसद को कवर करने वाले पत्रकार दीपक रंजन से संपर्क किया। उन्होंने कहा, ‘वायरल हो रहा क्लिप एडिटेड है और यह लोकसभा में रोहित वेमुला और जेएनयू पर हुए डिबेट में तत्कालीन शिक्षा मंत्री स्मृति ईरानी की तरफ से दिया गया जवाब है। उन्होंने जेएनयू में वितरित किए गए पर्चे को पढ़ा था, जिसमें देवी दुर्गा के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की गई थी।’

स्पष्ट है वायरल हो रहा वीडियो क्लिप एडिटेड है, जिसे उसके संदर्भ से अलग कर वायरल किया जा रहा है। वायरल वीडियो को गलत संदर्भ में पेश करने वाले यूजर को फेसबुक पर करीब 700 से अधिक लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: देवी दुर्गा का अपमान किए जाने के दावे के साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसद में दिए गए भाषण का वायरल हो रहा वीडियो क्लिप वास्तव में 2016 में लोकसभा में रोहित वेमुला और जेएनयू पर हुई बहस को लेकर उनकी तरफ से दिए गए जवाब के वीडियो का एक अंश है, जिसे उसके संदर्भ से अलग कर साझा किए जाने से उल्टा मतलब निकलता प्रतीत हो रहा है। वास्तव में उन्होंने जेएनयू में बांटे एक पर्चे को पढ़ते हुए विपक्ष पर हमला बोला था, जिसमें देवी दुर्गा के बारे में अपमानजनक टिप्पणियां की गई थीं। हालांकि, वायरल क्लिप में केवल उन्हें इस बयान को पढ़ते हुए दिखाया जा रहा है, जिससे ऐसा लग रहा है कि स्मृति ईरानी ने देवी दुर्गा के बारे में विवादित टिप्पणी की, जबकि वह विवादित बयान को पढ़ने से पहले साफ-साफ इस बात का उल्लेख करती हैं कि यह जेएनयू में बांटा गया पर्चा है।

  • Claim Review : केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सदन में किया देवी दुर्गा का अपमान
  • Claimed By : FB User-Sourav Adhikary
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later