X

Fact Check: जनरल बिपिन रावत के निधन पर नहीं मनाया गया केरल के कॉलेज में जश्न, सांप्रदायिक रंग देकर किया जा रहा फर्जी दावा

जनरल बिपिन रावत के निधन पर कॉलेज में जश्न नहीं मनाया गया था। हादसे से एक दिन पहले हुई फ्रेशर्स पार्टी का आयोजन किया गया था। गलत दावे के साथ वीडियो को वायरल किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: December 15, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर 42 सेकंड का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस पर ‘KARMA NEWS’ का लोगो लगा हुआ है। महिला एंकर हिंदी व अंगेजी की जगह किसी अन्य भाषा में खबर सुना रही हैं। इसमें कई लोगों के डांस करने का वीडियो भी दिखाया जा रहा है। इसके साथ में दावा किया जा रहा है कि सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन पर केरल के एक कॉलेज कैंपस में जश्न मनाया गया। धीरे—धीरे केरल दूसरे कश्मीर में बदलता जा रहा है।

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में दावे को गलत पाया। दरअसल, कॉलेज में आयोजित फ्रेशर्स पार्टी का वीडियो गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। यह जश्न हादसे से एक दिन पहले मनाया गया था।

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक यूजर Mra Sunil Pawar ने 13 दिसंबर को यह वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा है,
मदरसा छाप
Celebrations in Kerala college campus on the passing away of CDS General Bipin Rawat.
Kerala slowly turning into another Kashmir or even worse.
(केरल के कॉलेज कैंपस में सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन पर जश्न मनाया गया। केरल धीरे—धीरे कश्मीर या उससे भी बदतर होता जा रहा है।)

फेसबुक पर ही 3.01 मिनट के वीडियो को पोस्ट करते हुए Kaustav RoyAditya Anuraj Mangalasheriyil समेत कई अन्य यूजर्स ने भी इससे मिलता—जुलता दावा किया।

ट्विटर पर भी धनञ्जय #TeamHHB ने 2.20 मिनट के इस वीडियो को शेयर करते हुए ऐसा ही दावा किया।

पड़ताल

हमने सबसे पहले यूट्यूब चैनल ‘KARMA NEWS’ पर इस वीडियो को सर्च किया। 11 दिसंबर 2021 को इस वीडियो को ബിപിൻ റാവത്ത് | ഡി ജെ പാർട്ടി | ഇന്ത്യൻ പാക്കികളുടെ ചെറ്റത്തരം (Bipin Rawat | DJ Party | The smallest type of Indian Pakis) टाइटल के साथ पोस्ट किया गया है। इसके डिस्क्रिप्शन में लिखा है, ബിപിൻ റാവത്ത് രാജ്യത്തിന്റെ തീരാ ദു:ഖമായ മണ്ണിൽ ഡി ജെ പാർട്ടിയും വൻ ആഘോഷവും, പിന്നിൽ ആഗോള ഇസ്ളാമിക കോർപ്പറേറ്റ്, പാക്കിസ്ഥാൻ സെല്ലുകൾ ഊട്ടി, കുനൂർ,കോയമ്പത്തൂർ എന്നിവിടങ്ങളിൽ നടത്തിയ പാർട്ടിയുടെ എക്സ്ക്ളൂസീവ് ദൃശ്യങ്ങൾ പുറത്ത് വിടുന്നു (Bipin Rawat: exclusive footage of DJ party and big celebration in the saddest part of the country, behind the global Islamic Corporate, Pakistani cells in Ooty, Coonoor and Coimbatore)

इसके बाद हमने कीवर्ड से गूगल पर सर्च किया। इसमें हमें 12 दिसंबर को thehindu में प्र​काशित रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक, कोयंबटूर स्थित नेहरू ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस ने पुलिस से इस मामले में शिकायत की है। पुलिस से इस मामले में कार्रवाई करने की भी मांग की गई है। शिकायत है कि फ्रेशर्स डे के जश्न के वीडियो को मलयालम न्यूज पोर्टल ने गलत दावे के साथ चलाया है। आरोप लगाया गया कि मलयालम न्यूज पोर्टल ने इस वीडियो को सीडीएस बिपिन रावत की मौत पर एंटी नेशनल लोगों द्वारा जश्न मनाने के फर्जी दावे के साथ प्रसारित किया गया। संस्थान ने दावा किया कि यह वीडियो फेशर्स पार्टी है। इसे हॉस्टल के छात्रों ने दर्दनाक हादसे से एक दिन पहले 7 दिसंबर को आयोजित किया था।

इस बारे में हमने नेहरू ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस से संपर्क किया। इंस्टीट्यूट के अनुसार, इस बारे में उन्होंने कोयंबटूर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। यह वीडियो फ्रेशर्स पार्टी का है।

फर्जी दावा करने वाले वीडियो को शेयर करने वाले Mra Sunil Pawar की प्रोफाइल को हमने स्कैन किया। इससे पता चला कि वह पुणे महाराष्ट्र में रहते हैं और एक विचारधारा से प्रेरित हैं।

निष्कर्ष: जनरल बिपिन रावत के निधन पर कॉलेज में जश्न नहीं मनाया गया था। हादसे से एक दिन पहले हुई फ्रेशर्स पार्टी का आयोजन किया गया था। गलत दावे के साथ वीडियो को वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : जरनल बिपिन रावत के निधन पर केरल के कॉलेज में मनाया गया जश्न
  • Claimed By : FB User- Mra Sunil Pawar
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later