X

Fact Check: सोशल मीडिया पर नेहरू के खिलाफ दुष्प्रचार, बाल दिवस पर वायरल हुई ऑल्टर्ड और भ्रामक तस्वीरें

बाल दिवस के मौके पर ट्विटर पर नेहरू ट्रेंड (आर्काइव लिंक) कर रहे थे, जिसमें आपत्तिजनक दावे के साथ उनकी कई असंबंधित और ऑल्टर्ड तस्वीरों को शेयर किया गया।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 14, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयंती के अवसर पर प्रत्येक वर्ष 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है और इस दौरान बच्चों को ध्यान में रखते हुए देश भर में कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है। सोशल मीडिया पर जहां एक तरफ यूजर्स नेहरू की जयंती पर शुभकामनाएं दे रहे हैं, वहीं अनगिनत यूजर्स नेहरू की पुरानी तस्वीरों को साझा करते हुए दुष्प्रचार पर उतारू हैं। ये तस्वीरें पहले भी अलग-अलग मौकों और भिन्न संदर्भ में सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार की मंशा से वायरल होती रही हैं। बाल दिवस के मौके पर ये तस्वीरें फिर से सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर साझा की जा रही हैं।

बाल दिवस के मौके पर ट्विटर पर नेहरू ट्रेंड (आर्काइव लिंक) कर रहे थे, जिसमें आपत्तिजनक दावे के साथ उनकी कई असंबंधित और ऑल्टर्ड तस्वीरों को शेयर किया गया। इस रिपोर्ट में हमने नेहरू को निशाना बनाते हुए सर्वाधिक शेयर की जाने वाली कुछ तस्वीरों की फैक्ट चेक रिपोर्ट को शामिल किया है।

पहली वायरल तस्वीर

सच्चाई

वायरल हो रही तस्वीर में नेहरू नजर नहीं आ रहे हैं, बल्कि यह ‘ड्राइंग द लाइन’ नामक प्ले की तस्वीर है, जिसमें लूसी ब्लैक ने लेडी माउंटबेटेन और साइलस कार्सन ने नेहरू की भूमिका निभाई थी। metro.co.uk की वेबसाइट पर 11 दिसंबर 2013 की रिपोर्ट में इस तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है। रिपोर्ट में ‘ड्राइंग द लाइन’ प्ले का जिक्र करते हुए इसके अभिनेता साइलस कार्सन और लूसी ब्लैक की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है, जिसे नेहरू का बताकर वायरल किया जा रहा है।

‘ड्राइंग द लाइन’ प्ले में किरदार निभाते अभिनेता साइलस कार्सन और अभिनेत्री लूसी ब्लैक (Source-metro.co.uk)

दूसरी वायरल तस्वीर

https://twitter.com/HinduKesari/status/1592037830888673280

सच्चाई

वायरल हो रही तस्वीर में नेहरू जिस महिला के साथ नजर आ रहे हैं, वह उनकी भांजी नयनतारा हैं। उनकी यह तस्वीर 8 जुलाई 1955 की है, जब नेहरू लंदन एयरपोर्ट पर पहुंचे थे और उनकी आगवानी के लिए बहन विजयलक्ष्मी पंडित, भांजी नयनतारा और ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधानमंत्री एंथनी इडन पहुंचे थे।

यू-ट्यूब वीडियो में 27वें सेकेंड के फ्रेम में वायरल हो रही तस्वीर के फ्रेम को देखा जा सकता है। विश्वास न्यूज इस तस्वीर की पहले भी कई मौकों पर फैक्ट चेक कर चुका है, जिसकी रिपोर्ट को यहां पढ़ा जा सकता है।

तीसरी वायरल तस्वीर

https://twitter.com/Saritasrajput/status/1592035083187539974

सच्चाई

सोशल मीडिया पर यह तस्वीर समय-समय पर इस दावे के साथ वायरल होती रही है कि इसमें नेहरू के साथ नजर आ रही महिला भारत के अंतिम वायसराय माउंटबेटन की पत्नी एडविना हैं। सच्चाई यह है कि इस तस्वीर में जो महिला नजर आ रही हैं, वह भारत की पहली बीओएसी फ्लाइट में ब्रिटिश डिप्टी हाई कमिश्नर की पत्नी सिमॉन हैं।

इस तस्वीर की फैक्ट चेक रिपोर्ट को यहां क्लिक कर पढ़ा जा सकता है।

चौथी तस्वीर

सच्चाई

नेहरू की यह एडिटेड तस्वीर सोशल मीडिया पर उनके नाम से सर्वाधिक वायरल होने वाली तस्वीरों में से एक है। हकीकत में यह तस्वीर फेक है, जिसे एडिट कर तैयार किया गया है। नीचे दिए गए कोलाज में फेक और ऑरिजिनल तस्वीर के बीच के अंतर को साफ-साफ देखा ज सकता है।

विश्वास न्यूज इससे पहले भी कई मौकों पर इस तस्वीर की फैक्ट चेक कर चुका है, जिसकी रिपोर्ट को यहां पढ़ा जा सकता है।

सोशल मीडिया पर समय-समय पर नेहरू की एक कथित वंशावली भी वायरल होते रहती है, जिसे लेकर दावा किया जाता है कि नेहरू परिवार के पूर्वज मुस्लिम थे। नेहरू-गांधी परिवार के खिलाफ दुष्प्रचार की मंशा से इस मनगढ़ंत वंशावली को शेयर किया जाता रहा है। वायरल दावे की पड़ताल करती हमारी फैक्ट चेक रिपोर्ट को यहां पढ़ा जा सकता है।

  • Claim Review : बाल दिवस पर सोशल मीडिया पर वायरल नेहरू की तस्वीरें।
  • Claimed By : Twitter User- सनातनी भाई
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later