X

Fact Check : शहीद के परिजनों ने नहीं की थी मोदी को वोट न देने की अपील, फर्जी है खबर

  • By Vishvas News
  • Updated: March 18, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। फेसबुक पर एक वेबसाइट की खबर का स्‍क्रीनशॉट वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया गया है कि शहीद अजय कुमार के परिजनों ने नरेंद्र मोदी को वोट नहीं देने की अपील की है। विश्‍वास टीम की जांच में यह दावा फर्जी साबित हुआ। शहीद के परिवार से किसी ने भी ऐसी कोई अपील नहीं की थी।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में?

फेसबुक पर कई यूजर बोलता हिंदुस्‍तान की खबर का स्‍क्रीनशॉट शेयर कर रहे हैं। ऐसे ही एक यूजर हैं अशोक कुमार यादव। अशोक ने 17 मार्च को इस स्‍क्रीन शॉट को फेसबुक पर पोस्‍ट किया। इसमें लिखा हुआ : शहीद अजय कुमार के परिजनों की अपील- देश इस बार नरेंद्र मोदी को वोट न करे।

वायरल पोस्‍ट के ऊपर लिखा है कि यह खबर 19 फरवरी 2019 को सुबह 10:40 बजे पब्लिश हुई थी।

पड़ताल

हमने सबसे पहले वायरल हो रही वेबसाइट की खबर को सर्च करना शुरू किया। इसके लिए हमने गूगल में खबर की हेडिंग टाइप करके सर्च किया। पहला ही लिंक हमें इस खबर का मिल गया। boltahindustan.in ने शहीद अजय कुमार के परिजनों की अपील- देश इस बार ‘नरेंद्र मोदी’ को वोट न करे के शीर्षक ने 19 फरवरी 2017 को यह खबर पब्लिश की थी।

इस वेबसाइट के अलावा गूगल में कहीं भी हमें किसी दूसरी वेबसाइट का लिंक नहीं मिला, जिसमें ऐसी कोई बात कही गई हो। खबर से हमें पता चला कि जिस शहीद का जिक्र खबर में किया गया था, वो मेरठ के सिपाही अजय कुमार थे। पुलवामा में आतंकी हमले के बाद सेना की ओर से चलाए जा रहे ऑपरेशन में अजय शहीद हुए थे।

खबर की हेडिंग और कंटेंट में जो दावा किया गया कि शहीद के परिजनों ने लोगों से मोदी को वोट नहीं करने की अपील है, कि सच्‍चाई पता लगाने के लिए हमने दैनिक जागरण के मेरठ संस्‍करण के अखबार को देखना शुरू किया। Jagran.com की वेबसाइट पर जाकर हमने ईपेपर सेक्‍शन में 19 फरवरी और 20 फरवरी का मेरठ संस्‍करण का अखबार चेक किया। अखबार ने शहीद अजय कुमार के निधन से लेकर अंतिम संस्‍कार तक की कवरेज बड़े विस्‍तार से की। लेकिन हमें कहीं भी यह खबर देखने को नहीं मिली, जिसमें परिजनों ने मोदी को वोट नहीं देने की अपील की हो।

एक खबर जरूर ऐसी मिली, जिसमें केंद्रीय मंत्री डॉ. सत्‍यपाल के खिलाफ जनता का गुस्‍सा भड़क गया था। मामला कुछ ऐसा था कि अंतिम संस्‍कार के वक्‍त केंद्रीय मंत्री सत्‍यपाल सिंह और दूसरे नेता जूते पहनकर अंतिम विदाई स्‍थल पर पहुंच गए थे। इसके अलावा अंतिम संस्‍कार के वक्‍त केंद्रीय मंत्री को हंसते हुए भी देखा गया। इसके बाद लोगों ने विरोध जताया था। लेकिन ऐसी कोई खबर हमें नहीं मिली, जिसमें मोदी को वोट नहीं करने की अपील की गई हो।

इसके बाद हमने मेरठ जिले के जानी ब्‍लॉक के दैनिक जागरण के संवाददाता अरुण कुमार से बात की। शहीद अजय कुमार का गांव इसी ब्‍लॉक के तहत में आता है। अरुण कुमार ने बताया कि शहीद के पिता या परिवार के करीबी किसी भी रिश्‍तेदार ने अंतिम संस्‍कार के वक्‍त मोदी को वोट नहीं देने की कोई अपील नहीं की थी।

विश्‍वास टीम ने बोलता हिंदुस्‍तान वेबसाइट का पता लगाने के लिए इसको स्‍कैन किया। whois.com की मदद से हमें पता चला कि यह वेबसाइट 7 मार्च 2017 को रजिस्‍टर्ड की गई है। यह दिल्‍ली से अपडेट की जाती है। साइट पर दावा किया गया है कि इसे JMC और IIMC के पूर्व छात्र चलाते हैं। यह जानकारी खुद वेबसाइट पर दी गई है।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की जांच में पता चला कि शहीद अजय कुमार के परिवार ने नरेंद्र मोदी को वोट नहीं देने की कोई भी अपील नहीं की है। वायरल हो रही खबर गलत है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : शहीद के परिजनों ने की नरेंद्र मोदी को वोट न देने की अपील
  • Claimed By : Boltahindustan
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ
कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later