नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। सोशल मीडिया पर देश के पूर्व राष्‍ट्रपति डॉ. अब्‍दुल कलाम के बड़े भाई से जुड़ी एक फर्जी पोस्‍ट वायरल हो रही है। इसमें दावा किया जा रहा है कि कलाम के बड़े भाई छाता रिपेयर की दुकान चलाते हैं। विश्‍वास टीम की जांच में यह पोस्‍ट फर्जी निकली। पोस्‍ट में किया गया दावा और तस्‍वीर दोनों ही फेक निकले।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

फेसबुक पेज ‘जिंदगी से सामना’ पर 15 मई 2019 को एक बुजुर्ग मुसलमान की तस्‍वीर को अपलोड करते हुए लिखा : ”सीखो बेईमानों सीखो। पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम के बड़े भाई 89 साल की उम्र में छाता रिपेयर की दुकान चला रहे है और दूसरी तरफ वो लोग है, जो एक मंत्री बन जाये तो पूरे परिवार को उम्र भर कमाने की जरूरत नही रहती । कौन कहता है क़ि देश के मुसलमान भारत को प्यार नहीं करते ?

कलाम के भाई से जुड़े कई फेक वीडियो Youtube पर भी मौजूद हैं।

पड़ताल

पूर्व राष्‍ट्रपति से जुड़ा केस होने के कारण हमने वायरल पोस्‍ट की पड़ताल करने का निश्चिय किया। सबसे पहले हमने गूगल रिवर्स इमेज में वायरल तस्‍वीर को अपलोड करके सर्च किया। यहां हमें वायरल तस्‍वीर कई जगह मिली। कई साल से इंटरनेट पर वायरल तस्‍वीर वाले शख्‍स को पूर्व राष्‍ट्रपति का बड़ा भाई बताया जा रहा है।

गूगल रिवर्स इमेज में हमें सबसे पुरानी तस्‍वीर एक फेसबुक पेज पर मिली। 2 अगस्‍त 2015 को यह तस्‍वीर यहां अपलोड की गई थी। इसे सर्च करने के लिए हमने गूगल रिवर्स इमेज में टाइमलाइन टूल का यूज किया।

अब हमें यह जानना था कि पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम के बड़े भाई का नाम क्‍या है? गूगल सर्च में जब हमें सर्च किया तो हमें पता चला कि डॉ. कलाम के बड़े भाई का नाम मोहम्मद मुथु माराकायेर है।

हमारी पड़ताल के दौरान हमें एपीजे अब्‍दुल कलाम इंटरनेशनल फाउंडेशन की वेबसाइट मिली। apjabdulkalamfoundation.org से हमें पता चला कि डॉ. कलाम के बड़े भाई रामेश्‍वरम में रहते हैं। वे फिलहाल फाउंडेशन के चेयरमैन हैं।

गूगल सर्च से पता चला कि डॉ. कलाम के बड़े भाई ने 2016 में अपना 100वां जन्‍मदिन मनाया था। उस समय कई जगह इनके जन्‍मदिन की खबर भी प्रकाशित हुई थी।

इसके बाद हमने डॉ. अब्दुल कलाम के पड़पोते शेख सलीम से बात की। उन्‍होंने विश्‍वास टीम को बताया कि जो तस्‍वीर वायरल हो रही है, वह फर्जी है। डॉ. कलाम के बड़े भाई मोहम्मद मुथु माराकायेर 102 साल के हैं। उन्‍होंने कभी छाता रिपेयर करने का काम नहीं किया। शेख सलीम ने बताया कि कलाम साहब के भाई अपने गृहनगर रामेश्वरम में अपने परिवार के साथ रहते हैं।

Stalkscan टूल की मदद से हमने फेसबुक पेज ‘जिंदगी से सामना’ की सोशल स्‍कैनिंग की। यहां से हमें पता चला कि इस पेज पर एक खास पार्टी के समर्थन के अलावा मोटिवेशन पोस्‍ट भी अपलोड की जाती है।

निष्‍कर्ष : वायरल पोस्‍ट में किया गया दावा कि डॉ. कलाम के बड़े भाई छाते रिपेयर का काम करते हैं, फर्जी निकला। विश्‍वास टीम की जांच में यह भी पता चला कि वायरल तस्‍वीर डॉ. कलाम के बड़े भाई की नहीं है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Claim Review : कलाम के बड़े भाई छाता रिपेयर की दुकान चलाते हैं
Claimed By : फेसबुक पेज 'जिंदगी से सामना
Fact Check : False

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here