Fact Check : वायरल तस्‍वीर में नेहरू से गले लगने वाली महिला उनकी भांजी नयनतारा हैं

0

नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। एक बार फिर सोशल मीडिया में निशाने पर देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू हैं। इस बार उनकी एक तस्‍वीर वायरल हो रही है, जिसमें उनसे गले लगते हुए एक महिला को देखा जा सकता है। इस तस्‍वीर में एक और शख्‍स दिख रहा है, जिसके बारे में दावा किया जा रहा है कि ये मोहम्‍मद अली जिन्‍ना हैं। विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि जवाहरलाल नेहरू को चूमने वाली महिला उनकी भांजी नयनतारा हैं। जिस व्‍यक्ति को जिन्‍ना बताया जा रहा है, वो ब्रिटेन के तत्‍कालीन पीएम एंथोनी एडन हैं।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

सोशल मीडिया में अक्‍सर देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू निशाने पर रहते हैं। इस बार 1955 की तस्‍वीर को 2019 में वायरल किया जा रहा है। पंडित अर्चित शर्मा (@archit.sharma.1232) नाम के फेसबुक यूजर ने 29 मार्च को नेहरू की एक तस्‍वीर को पोस्‍ट करते हुए लिखा है : ‘आजादी की भयंकर लड़ाई में, बायें गाल पर गोली खाते चचा नेहरू..’ गवाह उनका भाई मो.अली जिन्ना।

यह तस्‍वीर पिछले कई सालों से गलत संदर्भ के साथ वायरल हो रही है।

पड़ताल

विश्‍वास टीम ने इस फोटो की पड़ताल करने का फैसला किया। गूगल रिवर्स इमेज में तस्‍वीर को सर्च करने के बाद कई पेज स्‍कैन किया गया। इंटरनेट पर मौजूद जानकारी के आधार पर हमें पता चला कि जवाहरलाल नेहरू की वायरल तस्‍वीर 1955 की है, जब वे लंदन पहुंचे थे। लंदन एयरपोर्ट की इस तस्‍वीर में नेहरू को गले लगने वाली महिला नयनतारा सहगल हैं, जो रिश्‍ते में नेहरू की भांजी लगती हैं। ओरिजनल तस्‍वीर में नेहरू की बहन और नयनतारा की मां विजयलक्ष्‍मी पंडित को भी देखा जा सकता है।

वायरल तस्‍वीर की सच्‍चाई जानने के लिए हमने Youtube पर Nehru at Londan 1955 टाइप करके सर्च किया। वहां हमें British Pathe Youtube चैनल पर एक वीडियो मिला। यह उसी इवेंट का वीडियो है, जिस इवेंट की तस्‍वीर वायरल की जा रही है।

इसके बाद हमने जब अपनी पड़ताल को आगे बढ़ाया तो हमें Getty इमेज पर एक तस्‍वीर मिली। यह तस्‍वीर नेहरू के उसी लंदन दौरे की थी, जिसकी तस्‍वीर को गलत एंगल देकर वायरल किया जा रहा है। Getty की तस्‍वीर में आप जवाहरलाल नेहरू के साथ उनकी बेटी इंदिरा गांधी, नेहरू की बहन विजयलक्ष्‍मी और ब्रिटिश प्राइम मिनिस्‍टर एंथोनी इडन को देख सकते हैं। यह तस्‍वीर लंदन एयरपोर्ट की 8 जुलाई 1955 की है।

अब हमें यह जानना था कि क्‍या तस्‍वीर में वाकई जिन्‍ना भी मौजूद हैं? हमारी जांच में पता चला कि 1947 में ही जिन्‍ना पाकिस्‍तान चले गए थे। जबकि वायरल तस्‍वीर 1955 की है। जिस शख्‍स को जिन्‍ना बताकर प्रचारित किया जा रहा है, दरअसल वो ब्रिटिश के तत्‍कालीन पीएम सर एंथोनी इडन है, जो नेहरू को रिसीव करने खुद लंदन एयरपोर्ट पहुंचे थे।

अंत में हमने फर्जी तस्‍वीर को पोस्‍ट करने वाले पंडित अर्चित शर्मा के फेसबुक पेज को स्‍कैन किया। Stalkscan से हमें पता चला कि इस शख्‍स ने अप्रैल 2010 में फेसबुक पर अपना अकाउंट बनाया था। लखनऊ का रहने वाला अर्चित एक खास विचारधारा से प्रभावित है। इसके निशाने पर विपक्षी नेता और दल रहते हैं।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि जवाहरलाल नेहरू को गले लगने वाली महिला कोई और नहीं, बल्कि खुद उनकी भांजी नयनतारा सहगल हैं, जो लंदन एयरपोर्ट पर अपनी मां विजयलक्ष्‍मी सहगल के साथ पहुंची थीं। तस्‍वीर में कहीं भी जिन्‍ना नहीं हैं। जिन्‍हें जिन्‍ना बताया जा रहा है, वो ब्रिटेन के तत्‍कालीन प्रधानमंत्री एंथोनी इडन हैं।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Written BY Ashish Maharishi
  • Claim Review : आजादी की भयंकर लड़ाई में, बायें गाल पर गोली खाते चचा नेहरू..' गवाह उनका भाई मो.अली जिन्ना।
  • Claimed By : पंडित अर्चिंत शर्मा
  • Fact Check : False

टैग्स

संबंधित लेख