X

Fact Check: सीरिया में ISIS के हमले का पुराना वीडियो यरुशलम की अल अक्सा मस्जिद पर इजरायल के हमले के नाम से वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: May 17, 2021

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। इजराइल और फलस्तीन के बीच चल रहे हालिया हमलों के बीच इससे जुड़े ढेरों दावे सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। ऐसा ही एक दावा यरुशलम स्थित अल अक्सा मस्जिद को लेकर वायरल किया जा रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स एक वीडियो शेयर कर रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि इजरायल के हमले में अल अक्सा मस्जिद तोड़ दी गई है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में ये दावा झूठा निकला है। सीरिया के राक्का में एक मकबरे पर आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट द्वारा किए गए हमले के पुराने वीडियो को गलत दावे से शेयर किया जा रहा है।

क्या हो रहा है वायरल

फेसबुक यूजर Vinod Hindu ने 12 मई 2021 को वायरल वीडियो शेयर करते हुए लिखा है, ‘मक्का और मदीना के बाद इस्लाम में अल अक्शा तीसरी सबसे पवित्र मस्जिद मानी जाती थी जोकि इजरायल द्वारा तोड़ दी गई।’

इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है। ऐसा ही दावा Chet world नाम के फेसबुक पेज पर भी शेयर किया गया है। इसे यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने सबसे पहले वायरल वीडियो के स्क्रीनग्रैब निकाले। हमने इन्हें Yandex सर्च इंजन पर सर्च किया। हमें इससे मिलते-जुलते ढेरों परिणाम मिले। हमें इस वीडियो का स्क्रीनशॉट zohreanaforum.com नाम की वेबसाइट पर 23 जून 2014 की एक रिपोर्ट में मिला। गूगल ट्रांसलेटर की मदद से हमने जाना कि इस टर्किश रिपोर्ट में बताया गया है कि इस्लामिक स्टेट ने सीरिया के रक्का में किसी मकबरे पर हमला किया था। इस रिपोर्ट को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

हमें Yandex सर्च इंजन से ही मिले दूसरे परिणामों को भी खंगाला। हम डेली मोशन की साइट पर पहुंचे। हमें यह वायरल वीडियो इस साइट पर मौजूद एक रिपोर्ट में मिला। यह रिपोर्ट 6 साल पुरानी है। रिपोर्ट के मुताबिक, यह वीडियो आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) के हमले से जुड़ा हुआ है। इस वीडियो रिपोर्ट को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, ISIS ने सीरिया के राक्का में Uwais al-Qarni की मजार को ध्वस्त कर दिया था। इंटरनेट पर सर्च करने पर हमें इससे जुड़ी रेडिट पर की गई एक पोस्ट भी मिली। इसे यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

विश्वास न्यूज की अबतक की पड़ताल से ये साफ हो चुका था कि ये वीडियो पिछले 6-7 साल से इंटरनेट पर मौजूद है। इसे सीरिया में एक मजार पर ISIS के हमले का वीडियो बताया जा रहा है और यह किसी भी तरह इजरायल और फलस्तीन के हालिया विवाद से जुड़ा हुआ नहीं है।

विश्वास न्यूज ने इस वायरल दावे को इंटरनेशनल अफेयर्स जर्नलिस्ट, मिडिल ईस्ट मामलों के एक्सपर्ट और यूनिवर्सिटी ऑफ वारसा के इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशंस के विजिटिंग फैकल्टी सौरभ शाही संग शेयर किया। सौरभ इजरायल-फलस्तीन विवाद संग सीरिया संकट को भी कवर चुके हैं। सौरभ ने पुष्टि करते हुए बताया कि वह खुद यरुशलम स्थित अल अक्सा मस्जिद जा चुके हैं। वायरल वीडियो वहां का नहीं है। सौरभ ने बताया कि इजरायल ने अबतक ऐसा कोई हमला अल अक्सा मस्जिद पर नहीं किया है।

विश्वास न्यूज ने इस वायरल दावे को शेयर करने वाले फेसबुक यूजर Vinod Hindu की प्रोफाइल को स्कैन किया। यूजर ने अपनी निजी जानकारियां सार्वजनिक नहीं की हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में हालिया इजरायल-फलस्तीन विवाद के दौरान यरुशलम स्थित अल अक्सा मस्जिद पर इजरायल के हमले का दावा झूठा निकला है। सीरिया के राक्का में एक मकबरे पर आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट द्वारा किए गए हमले के पुराने वीडियो को गलत दावे से शेयर किया जा रहा है।

  • Claim Review : इजरायल के हमले में अल अक्सा मस्जिद तोड़ दी गई है।
  • Claimed By : फेसबुक यूजर Vinod Hindu
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later