Fact Check: चालान की ‘कमाई’ को लेकर नहीं हुई पुलिसवालों के बीच मारपीट, पुराना वीडियो वायरल

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दो पुलिसवाले एक-दूसरे से मारपीट करते हुए नजर आ रहे हैं। दावा किया जा रहा है चालान कटने के बाद हुई ”भारी” कमाई का सही बंटवारा नहीं होने की वजह से सिपाहियों में झगड़ा शुरू हो गया। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। वीडियो में नजर आ रहे दो रहे सिपाहियों के बीच हुए लड़ाई चालान कटने के बाद हुई आमदनी के बंटवारे को लेकर नहीं हुई।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पेज Uday Tv (उदय tv) की वॉल पर इस वीडियो को शेयर किया गया है। वीडियो शेयर करते हुए लिखा गया है, ‘चालान काटने में हुई भारी कमाई से बटवारा सही से ना होने पर झगड़ा।’

पड़ताल किए जाने तक इस वीडियो को करीब दो हजार से अधिक बार देखा जा चुका है।

पड़ताल

वीडियो के की-फ्रेम्स को रिवर्स इमेज करने पर हमें एक पुरानी खबर का लिंक मिला, जिसमें इस वीडियो का इस्तेमाल किया गया था।

26 अगस्त 2019 को ईटीवी भारत की वेबसाइट पर प्रकाशित खबर का लिंक मिला, जिसमें इसी वीडियो का इस्तेमाल किया गया है। खबर के मुताबिक, ‘उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के बड़ौत थाना क्षेत्र में आरटीओ ने एक गाड़ी को पकड़ा था। गाड़ी रिलीज होने के बाद होमगार्ड ने जाने दिया, लेकिन इसे लेकर पीआरडी (प्रांतीय रक्षा दल) जवान का होमगार्ड से विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि दोनों के बीच गाली-गलौच के साथ जमकर लात-घूंसे चलने शुरू हो गए। दोनों के इस तमाशे का वीडियो बाद में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।’

25 अगस्त 2019 को न्यूज एजेंसी एएनआई यूपी के ट्विटर हैंडल से दी गई जानकारी से इसकी पुष्टि होती है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ‘इस मामले के सामने आने के बाद पुलिस महकमा हरकत में आया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि घटना में संलिप्त दोनों लोगों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए एक रिपोर्ट तैयार की जा रही है।’

विश्वास न्यूज ने इसे लेकर बड़ौत थाना प्रभारी संतोष कुमार सिंह से बात की। उन्होंने वायरल वीडियो की पुष्टि करते हुए वायरल हो रहे दावे का खंडन किया। सिंह ने कहा, ‘पहली बात तो यह कि वीडियो में नजर आ रहे पुलिसकर्मी, यूपी पुलिस के जवान नहीं, बल्कि प्रांतीय रक्षा दल और होम गार्ड के जवान हैं। वीडियो सामने आने के बाद दोनों को ही निलंबित कर दिया गया था और मामले की जांच के आदेश दिए गए थे।’

यानी जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, वह देश में नए ट्रैफिक नियमों के लागू होने से पहले का है। देश में एक सितंबर 2019 से नया कानून लागू हुआ है।

गौरतलब है कि देश में नए मोटर व्हीकल एक्ट के लागू होने के बाद से सोशल मीडिया पर ऐसे वीडियो और फोटो लगातार वायरल हो रहे हैं, जिसमें पुलिसवाले झगड़ते हुए नजर आ रहे हैं और दावा किया जा रहा है कि चालान कटने के बाद होने वाली कथित कमाई के बंटवारे को लेकर उनके बीच झगड़ा हो रहा है। इससे पहले ऐसे ही एक वीडियो की पड़ताल विश्वास न्यूज ने की थी, जिसमें पुलिसवालों की पिटाई की वजह चालान को बताया गया था।

निष्कर्ष: चालान काटे जाने से होने वाली कथित कमाई के बंटवारे की वजह से पुलिसवालों के बीच हो रही मारपीट के दावे के साथ वायरल हो रहा वीडियो गलत दावे के साथ सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है।

  • Claim Review : चालान काटने में हुई भारी कमाई से बंटवारा सही से नहीं होने पर हो रहा झगड़ा
  • Claimed By : fb uSER-Uday tv उदय tv
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False

पूरा सच जानें...

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later