X

Fact Check: लालबाग के राजा के मुख दर्शन की पांच साल पुरानी वीडियो क्लिप को अभी का बताकर किया जा रहा है शेयर

विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में गणपति के मुख दर्शन का वायरल हो रहा वीडियो वाला दावा भ्रामक निकला। वायरल वीडियो 5 साल पुराना यानी सितंबर 2016 का है।

  • By Vishvas News
  • Updated: September 13, 2021

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। देशभर में 10 सितंबर से गणेश चतुर्थी का उत्सव मनाया जा रहा है। गणेश उत्सव 10 सितंबर से लेकर 19 सितंबर तक चलेगा। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। लालबाग के राजा गणपति के 57 सेकेंड के इस वीडियो को हालिया बताते हुए शेयर किया जा रहा है। वीडियो में लालबाग के राजा गणपति की मूर्ति का अनावरण किया जा रहा है। दावा किया जा रहा है, यह वीडियो ‘इस वर्ष के लालबाग के राजा की मूर्ति के पहले दर्शन का है। विश्वास न्यूज़ ने वायरल पोस्ट की जाँच की और इस वीडियो के साथ किये जा रहे दावे को भ्रामक पाया। वायरल हो रहा वीडियो हालिया नहीं, बल्कि 2016 का है, जिसे अब वायरल कर लोगों को गुमराह किया जा रहा है।

क्या हो रहा है वायरल ?
फेसबुक यूजर Sanjeev Kaushik ने वायरल वीडियो क्लिप को शेयर करते हुए लिखा है “लाल बाग के राजा का प्रथम दर्शन ।”

पोस्ट के आर्काइव लिंक को यहाँ देखो।

फेसबुक पर कई अन्य यूज़र्स ने इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज़ ने वायरल पोस्ट की जाँच InVID टूल सर्च से शुरू की, वीडियो के कीफ्रेम्स निकाल कर उन्हें गूगल रिवर्स इमेज की मदद से खोजना शुरू किया। हमें इससे जुडी तस्वीर लोकसत्ता के वेबसाइट पर 2 सितम्बर 2016 को प्रकाशित खबर में मिली। प्रकाशित खबर में लिखा गया था ,Lalbaugcha Raja : ‘लालबागचा राजा’ मुखदर्शन” पूरी खबर यहाँ देखें।

इसी से जुड़ा वीडियो हमें Loksatta Live के आधिकारिक चैनल पर 1 सितंबर, 2016 को अपलोड मिला, वीडियो को अपलोड कर लिखा गया था- ‘Lalbaugcha Raja first look 2016 | Mukh Darshan Live ‘ और सर्च करने पर Rajshri Marathi नाम के यूट्यूब चैनल पर भी हमें 3 सितम्बर 2016 को अपलोडेड एक वीडियो मिला। “Lalbaugcha Raja FIRST Look | Mukh Darshan | Watch Now | Ganesh Chaturthi 2016 ” ‘लालबागचा राजा का पहला मुख दर्शन’

IndiaTV के आधिकारिक चैनल पर 2 सितम्बर 2016 को यह वीडियो अपलोड किया गया था। यहाँ भी इस वीडियो को 2 सितम्बर 2016 को अपलोड किया हुआ मिला। वीडियो के साथ लिखा गया था, “यहां देखें लालबागचा राजा 2016 का फर्स्ट लुक” पूरी वीडियो को यहाँ क्लिक कर देखो।

अब हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से गूगल पर लालबागचा राजा 2021 लिख कर सर्च किया तो हमें टाइम्स नाउ न्यूज और द टाइम्स ऑफ इंडिया द्वारा प्रकाशित की गई खबर मिली। इस खबर में गणेश प्रतिमा की तस्वीरें वायरल वीडियो से बिल्कुल भी मेल नहीं खातीं हैं। प्रकाशित खबर के अनुसार, इस साल गणपति की मूर्ति की ऊंचाई केवल दो से चार फीट होनी चाहिए। दिशानिर्देशों के अनुसार, चार फीट से ज्यादा ऊंचाई वाली मूर्ति स्थापित करने की अनुमति नहीं है।

लालबागचा राजा के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी 10 सितंबर 2021 को बप्पा के फर्स्ट लुक के वीडियो को ट्वीट कर शेयर किया गया था । वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा गया है, “लालबागचा राजा का प्रथम दर्शन 2021 (Lalbaugcha Raja First Look 2021).”

अधिक जानकारी के लिए हमने लालबागचा राजा कमेटी के बालासाहेब कांबले से सम्पर्क किया। उन्होंने हमें बताया की यह वीडियो 2016 का है, अभी का नहीं। उन्होंने हमारे साथ इस साल के गणपति मूर्ति की वीडियोज और फोटोज भी शेयर की। साथ ही वीडियो के साथ किये जा रहे दावे को गलत बताया।

पड़ताल के अंत में हमने वीडियो शेयर करने वाले यूजर की जाँच की। जाँच में पता चला की यूजर दिल्ली के रहने वाले हैं और उन्हें फेसबुक पर 789 लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में गणपति के मुख दर्शन का वायरल हो रहा वीडियो वाला दावा भ्रामक निकला। वायरल वीडियो 5 साल पुराना यानी सितंबर 2016 का है।

  • Claim Review : लाल बाग के राजा का प्रथम दर्शन ।
  • Claimed By : फेसबुक यूजर Sanjeev Kaushik
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later