X

Fact Check: बिल्डिंग पर चढ़कर युवक का पीछा करने वाला वीडियो तेलंगाना नहीं, पाकिस्तान का है

वायरल वीडियो पाकिस्तान के हैदराबाद का है। इस घटना में ईशनिंदा का आरोप लगाकर लोग सफाई कर्मचारी को नुकसान पहुंचाने के लिए इमारत पर चढ़े थे। पुलिस ने लाठीचार्ज कर लोगों को वहां से भगाया था।

  • By Vishvas News
  • Updated: August 30, 2022
Pakistan Video

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर 30 सेकंड का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें कई लोगों को एक इमारत पर चढ़ते हुए देखा जा सकता है। वहीं, कुछ लोग नीचे दरवाजा पीट रहे हैं। वीडियो शेयर कर यूजर्स इसे सांप्रदायिक दावे के साथ तेलंगाना का बताकर वायरल कर रहे हैं। दावा है कि तेलंगाना में कुछ लोग युवक के घर में जबरन घुसे और भड़काऊ नारे लगाए।

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल वीडियो पाकिस्तान का है, न कि भारत का। सोशल मीडिया पर इसे भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक यूजर ‘Kiran Rss‘ (आर्काइव लिंक) ने 28 अगस्त को वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा,

ये दृश्य पाकिस्तान की नही है तेलंगाना की है..
हिंदूओ के घरो मे जबरन घुस रहे सिर तन से जुदा के नारे लगा रहे है
देखो ये सब और नींद से जागो आपका साथ देने कोई नही आयेगा न नेता न पुलिस न कोई संगठन मीडिया को हैदराबाद में घुसने नहीं दिया जा रहा है
अपनी सुरक्षा के इंतजाम करो,, वरना फिर वही दृश्य देखोगे जो कश्मीर मे देखा था..

सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट।

ट्विटर यूजर @Pankajp58645525 (आर्काइव लिंक) ने भी इस वीडियो को समान दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

वायरल वीडियो की पड़ताल के लिए हमने गूगल के इनविड टूल से इसके कीफ्रेम्स निकाले। इनको गूगल रिवर्स इमेज से सर्च करने पर हमें 25 अगस्त को Kamran Ali Mir के ट्विटर अकाउंट पर यह वीडियो अपलोड मिला। इसमें लिखा है कि पाकिस्तान के हैदराबाद के सदर में हिंदू सफाई कर्मचारी अशोक कुमार पर ईशनिंदा का आरोप लगा दिया गया। वहां के चरमपंथियों ने उनको नुकसान पहुंचाने की कोशिश की।

कीवर्ड से इसे गूगल पर सर्च करने पर हमें सीएनबीसी आवाज पर अपलोड वीडियो न्यूज मिली। 22 अगस्त को अपलोड इस वीडियो न्यूज का टाइटल है, ‘Pakistan के Hyderabad में Hindu पर हमला, हिंदू व्यक्ति के खिलाफ दर्ज हुआ फर्जी मामला | CNBC Awaaz’। इसके डिस्क्रिप्शन में दिया गया है कि पाकिस्तान के हैदराबाद में हिंदू युवक को ईशनिंदा के आरोप में निशाना बनाया गया। उस पर केस भी दर्ज किया गया है।

22 अगस्त को हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी खबर के अनुसार, पाकिस्तान में हिंदू कर्मचारी पर ईशनिंदा के आरोप में केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने लाठीचार्ज कर इमारत के पास जमा हुई भीड़ को तितर-बितर किया।

21 अगस्त को पाकिस्तानी पत्रकार मुबाशिर जैदी (आर्काइव लिंक) ने वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि हैदराबाद पुलिस ने हिंसक भीड़ को तितर-बितर किया। वे ईशनिंदा के आरोपी हिंदू सफाई कर्मचारी को सौंपने की मांग कर रहे थे। पुलिस का दावा है कि सफाई कर्मचारी को निजी विवाद के चलते निशाना बनाया गया है।

इस बारे में हमने तेलंगाना में एशियानेट के रिपोर्टर श्रीहर्ष से संपर्क कर उनको वायरल वीडियो भेजा। उनका कहना है, ‘यह घटना तेलंगाना की नहीं है।

वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर करने वाली यूजर ‘किरन आरएसएस‘ की प्रोफाइल को हमने स्कैन किया। इसके मुताबिक, वह जयपुर में काम करती हैं।

निष्कर्ष: वायरल वीडियो पाकिस्तान के हैदराबाद का है। इस घटना में ईशनिंदा का आरोप लगाकर लोग सफाई कर्मचारी को नुकसान पहुंचाने के लिए इमारत पर चढ़े थे। पुलिस ने लाठीचार्ज कर लोगों को वहां से भगाया था।

  • Claim Review : ये वीडियो पाकिस्तान का नहीं, तेलंगाना का है।
  • Claimed By : FB User- Kiran Rss
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later