X

Fact Check: रोड एक्सीडेंट की शिकार महिला कांस्टेबल की तस्वीर गलत दावे के साथ वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: October 4, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई वारदात को लेकर सोशल मीडिया पर बहुत आक्रोश देखने को मिल रहा है। ऐसे में एक पुलिस की वर्दी पहने महिला की तस्वीर और उसके आईडी कार्ड को शेयर करके दावा किया जा रहा है कि पंजाब में एक महिला कॉन्स्टेबल के साथ बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर दी गई और उसकी लाश को सड़क किनारे फेंक दिया गया।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। जिस महिला कॉन्स्टेबल की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर हो रही है, उसकी मृत्यु एक सड़क दुर्घटना में हुई थी। उनके रेप की बात बिल्कुल गलत है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

ट्विटर यूजर “किसान का पुत्र हूँ @sanjay_mishra91” ने Oct 2 को इन तस्वीरों को शेयर करते हुए लिखा “कांग्रेसी नेताओं का जुबान तो खोलो
@priyankagandhi, @RahulGandhi  जी यह भी एक महिला है देखते हैं आपके मुंह में जुबान है या नहीं। पंजाब फतेहगढ़ चुरियन रोड यार्ड शंगना प्लेस संगतपुरा के करीब महिला कॉन्स्टेबल का मिला शव,😢 मामला रेप और हत्या का #210prsr #बलात्कारीगहलोतसरकार”

इन तस्वीरों को ‘संजू रावत कोटपूतली’ नाम के यूजर ने इस दावे के साथ शेयर किया “पंजाब में पुलिस महिला कांस्टेबल की हत्या क्या पुलिस भी सुरक्षित नही है सिर्फ हाथरस पर राजनीति करेंगे । राजस्थान, छत्तीसगढ़ में आयेदिन बलात्कार की घटनाएं हो रही है ,बेटियां सुरक्षित नही है।”

इस पोस्‍ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

हमने सबसे पहले इन तस्वीरों को ध्यान से देखा। वायरल पोस्ट में महिला कॉन्स्टेबल के आईकार्ड की जो तस्वीर शेयर की जा रही है, उसमें उसका नाम नोमी (NOMI) और पद ‘L/CONSTABLE’ लिखा है। आईकार्ड के अनुसार, यह अमृतसर सिटी में पोस्टेड हैं।

हमने पड़ताल के लिए कीवर्ड सर्च का सहारा लिया। हमने गूगल पर “Nomi+Constable+Amristar”(नोमी + कॉन्स्टेबल + अमृतसर)  कीवर्ड्स के साथ सर्च किया। हमें दैनिक जागरण की 1 अक्टूबर को पब्लिश्ड एक खबर मिली। हमें पता चला कि यह घटना घटना 1 अक्टूबर की है, जब इस नाम की एक महिला कॉन्स्टेबल की स्कूटी को एक स्कॉर्पियो कार ने टक्कर मार दी थी, जिसके चलते उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी।

ढूंढ़ने पर हमें यह खबर ‘ट्रिब्यून’ और ‘पंजाब केसरी’ पर भी मिली। सभी ख़बरों के अनुसार, महिला कॉन्स्टेबल की स्कूटी को एक स्कॉर्पियो कार ने टक्कर मार दी थी, जिसके चलते उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। कहीं भी रेप के मामले का कोई ज़िक्र नहीं था।

इस विषय में ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने जागरण अमृतसर के रिपोर्टर नितिन धीमान से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया “सोशल मीडिया पर जिस महिला कॉन्स्टेबल की तस्वीरें वायरल हैं, उनकी मृत्यु एक सड़क दुर्घटना में हुई थी। वह अमृतसर में कार्यरत थी। उसके बलात्कार की बात एकदम गलत है।”

वायरल तस्वीर को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर ‘संजू रावत कोटपूतली’ की प्रोफाइल के अनुसार, वे राजस्थान के रहने वाले हैं। यूजर के फेसबुक पर कुल 21,427 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। जिस महिला कांस्टेबल की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर हो रही है, उसकी मृत्यु एक सड़क दुर्घटना में हुई थी। उनके रेप की बात बिलकुल गलत है।

  • Claim Review : पंजाब में पुलिस महिला कांस्टेबल की हत्या क्या पुलिस भी सुरक्षित नही है सिर्फ हाथरस पर राजनीति करेंगे । राजस्थान, छत्तीसगढ़ में आयेदिन बलात्कार की घटनाएं हो रही है ,बेटियां सुरक्षित नही है।
  • Claimed By : किसान का पुत्र हूँ @sanjay_mishra91
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later