X

Fact Check: पुलिस ने 140 से शुरू होने वाली कॉल पर नहीं जारी किया है यह बयान

  • By Vishvas News
  • Updated: July 13, 2020


नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़): विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और वॉट्सऐप पर वीडियो के साथ एक संदेश शेयर किया जा रहा है, जिसमें एक पुलिसकर्मी अपनी पेट्रोल वैन के माध्यम से बात करता हुआ दिखाई दे रहा है। वीडियो में यह पुलिसवाला लोगों से 140 से शुरू होने वाले नंबरों से कोई कॉल नहीं लेने के लिए कह रहा है। वीडियो में यह पुलिसवाला कहता है कि यदि आप यह फ़ोन उठाएंगे तो आपका बैंक अकाउंट खाली हो जाएगा। 

विश्वास न्यूज ने अपनी जांच में पाया कि मुंबई पुलिस ने ऐसा कोई ऑफिशियल वीडियो जारी नहीं किया था। यह संदेश चैनल ‘सोनी लिव’ की एक प्रचार गतिविधि के फलस्वरूप लोगों की शिकायतों के बाद सामने आया था। पुलिस ने साफ़ किया है कि यह वीडियो पुलिस का ऑफिशियल बयान नहीं है। पुलिस ने कहा है कि +140 के साथ शुरू होने वाले नंबर टेलीमार्केटिंग के होते हैं। किसी भी सूरत में लोगों को अपने गोपनीय बैंकिंग या व्यक्तिगत विवरण या ओटीपी को ऐसे कॉलर्स के साथ साझा नहीं करना चाहिए। 

क्या हो रहा है वायरल?

फेसबुक यूजर, दीपक वैश्य ने इस वीडियो को फेसबुक के मीरा-भाईंदर ठाणे ग्रुप पर पोस्ट किया। पोस्ट के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा है “अभी, मुंबई पुलिस मुख्य नियंत्रण को एक संदेश मिला है कि 140 से शुरू होने वाले कॉल को स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए। यह जानकारी सभी समूहों को भेजें।”

लोग इस वीडियो को बड़ी संख्या में सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म फेसबुक और ट्विटर पर साझा कर रहे हैं। इस पोस्ट का आर्काइव लिंक यहाँ देखें।

पड़ताल

जांच की शुरुआत में हमने मुंबई पुलिस से संबंधित सभी आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट्स को देखने का फैसला किया। हमने सबसे पहले महाराष्ट्र साइबर पुलिस के ट्विटर अकाउंट को चेक करने का फैसला किया। हमें इस संदर्भ में एक ट्वीट मिला।

महाराष्ट्र साइबर पुलिस ने ट्वीट पे जानकारी दी थी, “सोशल मीडिया पर पुलिस कॉन्स्टेबल का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें उसे लोगों को +140 से शुरू होने वाले नंबरों से कॉल स्वीकार नहीं करने के लिए कहते सुना जा सकता है। हम स्पष्ट करना चाहते हैं कि +140 के साथ शुरू होने वाले नंबर टेलीमार्केटिंग के होते हैं। किसी भी सूरत में लोगों को अपने गोपनीय बैंकिंग या व्यक्तिगत विवरण या ओटीपी को ऐसे कॉलर्स के साथ साझा नहीं करना चाहिए।” ट्वीट में पुष्टि की गयी है कि पुलिस ने इन नंबर से आये कॉल्स को उठाने से मना नहीं किया है। मगर कहा है कि यह नंबर टेलीमार्केटिंग के होते हैं और लोगों को कभी अपनी पर्सनल जानकारी किसी के साथ शेयर नहीं करनी चाहिए।

हालांकि, इस वीडियो के पीछे की कहानी भी है।

हमें महाराष्ट्र साइबर सेल के अकाउंट पर एक संदेश मिला, इसमें लिखा था, “हमने देखा है कि सोनी लिव अपने नए धारावाहिक के लिए लोगों को एक ऑडियो क्लिप सुना रहा है। अगर आपको ऐसी कॉल आती हैं, तो घबराएं नहीं और इन कॉल्स से बचें। हमने चैनल को निर्देश दिया है कि वह इस प्रचार गतिविधि को तुरंत बंद करे।”

हमें एक और ट्वीट भी मिला जो 11 जुलाई की सुबह साइबर सेल के ट्विटर अकाउंट से किया गया था। ट्वीट में लिखा था, “यह हमारे ध्यान में आया है कि एक टीवी चैनल सोनी लिव ने अपने नए शो के प्रचार के लिए एक रणनीति का इस्तेमाल किया है, जो लोगों को कॉल करके परेशान करने वाली वॉयस रिकॉर्डिंग चला रहा है। यदि आपको ऐसी कोई कॉल मिलती है, तो कृपया घबराएं नहीं और अफवाहें न  फैलाएं।”

इस ट्वीट से पहले लोगों ने ट्विटर पर सोनी लिव की एक कॉल रिकॉर्डिंग शेयर की थी। लोगों को कॉल +91 140 897 0061 से आया था। ऑडियो क्लिप में, ‘ऋषि’ नाम का एक व्यक्ति कॉल उठाने वाले को बोलता है कि उसने एक हत्या को देखा था। यह सब सोनी लिव चैनल के एक इवेंट के लिए किया गया है।


सोनी लिव ने अपने इस ऐड के लिए पुलिस से  ट्विटर पर माफी मांगी है।

विश्वास न्यूज ने मुंबई पुलिस के डीसीपी शाहजी उमाप से संपर्क किया। उन्होंने कहा, “पुलिस ने इस संबंध में कोई ऑफिशियल वीडियो प्रसारित नहीं किया है। पुलिस ने लोगों से किसी नंबर से आये कॉल को न उठाने की अपील नहीं की है। अपील यह की है कि लोग अपनी पर्सनल जानकारी किसी के साथ शेयर न करें।  SonyLIV कॉल के खिलाफ शिकायतों के बाद लोगों से यह अपील की गयी थी।”

हमने वीडियो को साझा करने वाले व्यक्ति की सोशल स्कैनिंग की और हमें पता चला कि इस वीडियो को शेयर करने वाले प्रोफाइल का नाम है दीपक वैश्य जो मुंबई के मीरा रोड के निवासी हैं।

 

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज ने अपनी जांच में पाया कि मुंबई पुलिस ने ऐसा कोई ऑफिशियल वीडियो जारी नहीं किया था, यह संदेश चैनल ‘सोनी लिव’ की एक प्रचार गतिविधि के फलस्वरूप लोगों की शिकायतों के बाद सामने आया था। पुलिस ने साफ़ किया है कि यह वीडियो पुलिस का ऑफिशियल बयान नहीं है। पुलिस ने कहा है कि +140 के साथ शुरू होने वाले नंबर टेलीमार्केटिंग के होते हैं। किसी भी सूरत में लोगों को अपने गोपनीय बैंकिंग या व्यक्तिगत विवरण या ओटीपी को ऐसे कॉलर्स के साथ साझा नहीं करना चाहिए।

  • Claim Review : आताच मुंबई पोलिस मेन कंट्रोलचा संदेश प्राप्त झाला आहे की 140 ने सुरुवात होणारे नंबरचे कॉल स्विकारु नयेत सर्व ग्रुप वर ही माहिती पुढे पाठवा पब्लिक ग्रुप असेल तरी चालेल
  • Claimed By : Deepak Vaish
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later