X

Fact Check: फ्रांस के 2018 फीफा विश्व कप जीतने के जश्न की तस्वीर को कोरोना प्रतिबंध के खिलाफ मार्च बता कर किया जा रहा है वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: December 24, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। सोशल मीडिया पर आजकल एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें एक सड़क पर हज़ारों की तादाद में भीड़ देखी जा सकती है। पोस्ट को इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि यह कोरोनावायरस प्रतिबंधों के खिलाफ हाल ही में पेरिस में आयोजित एक विरोध प्रदर्शन का दृश्य है।

Vishvas News की जांच में दावा फर्जी साबित हुआ। हमने पाया कि यह तस्वीर फ्रांस के 2018 फीफा विश्व कप की जीत का जश्न मना रहे लोगों की है।

क्या हो रहा है वायरल

वायरल पोस्ट में एक सड़क पर हज़ारों की तादाद में भीड़ देखी जा सकती है। पोस्ट के साथ लिखा है, “Somebody Posted this REVOLUTION IMAGE Last Night! FB DELETED IT .. Here is is AGAIN! FRANCE is STANDING UP!! NO MORE BANKSTERS CONTROL! NO More Fake Covid Controls .. NO MORE Money / Financial Controls .. LIBERTY, EQUALITY, FRATERNITY!!!”

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

पोस्ट की पड़ताल के लिए हमने वायरल तस्वीर का स्क्रीनशॉट लिया और उसे गूगल रिवर्स इमेज पर ढूंढा। हमें हूबहू यही तस्वीर afpforum.com पर मिली। वेबसाइट के अनुसार, यह तस्वीर “15 जुलाई, 2018 को आर्क ऑफ ट्रायम्फ (आर्क डी ट्रायम्फ) के ऊपर से ली गई इस तस्वीर में लोगों के हाथ में जलती मशालें लेते देखा जा सकता है। तस्वीर तब की है, जब फ्रांस ने 2018 फुटबॉल विश्व कप में जीत हासिल की थी।”

हमें यह तस्वीर कई और न्यूज़ रिपोर्ट्स में भी मिली। सभी रिपोर्ट्स के अनुसार, तस्वीर 2018 विश्वकप के बाद जश्न मनाते लोगों की है।

हमने पुष्टि के लिए एएफपी के फ़ोटो जर्नलिस्ट लुडोविक मरीन से ट्विटर पर संपर्क साधा। हमारे सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, “यह तस्वीर मैंने 2018 में खींची थी। तस्वीर में दिख रहे लोग फीफा वर्ल्ड कप में फ्रांस की जीत का जश्न मना रहे थे।”

ढूंढ़ने पर हमें पता चला कि फ्रांस ने कोरोना वायरस के चलते सांस्कृतिक स्थलों को खोलने को टाल दिया है और नाइट कर्फ्यू भी लगा दिया है। कई लोग इसके विरोध में है। हाल ही में पेरिस और अन्य फ्रांसीसी शहरों में इसे लेकर कई प्रदर्शन भी किए गए थे। इन प्रदर्शनों की तस्वीरें बीबीसी की इस खबर में देखी जा सकतीं हैं।

इस पोस्ट को शेयर करने वाले फेसबुक यूजर Skupina Kazenska Ovadba की सोशल स्कैनिंग से पता चलता है कि वह फ्रांस से हैं और फेसबुक पर उनके 1,674 फॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: Vishvas News की जांच में दावा फर्जी साबित हुआ। हमने पाया कि यह तस्वीर फ्रांस के 2018 फीफा विश्व कप की जीत का जश्न मना रहे लोगों की है।

  • Claim Review : Somebody Posted this REVOLUTION IMAGE Last Night! FB DELETED IT .. Here is is AGAIN! FRANCE is STANDING UP!! NO MORE BANKSTERS CONTROL! NO More Fake Covid Controls .. NO MORE Money / Financial Controls .. LIBERTY, EQUALITY, FRATERNITY!!!
  • Claimed By : Skupina Kazenska Ovadba
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later