X

Fact Check: बंदर का यह वीडियो अयोध्या नहीं ,बल्कि लखनऊ के बुद्धेश्वर मंदिर का है

विश्‍वास न्‍यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो अयोध्या नहीं, बल्कि लखनऊ के बाबा बुद्धेश्वर मंदिर का है,जिसे भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: January 12, 2023
Buddheshwar Mahadev Temple

नई दिल्ली ( विश्वास न्यूज़ )। मंदिर में सिर झुकाते एक बंदर का वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक बंदर को मंदिर में सिर झुकाते हुए देखा जा सकता है। कुछ यूजर्स इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा कर रहे हैं कि यह वीडियो अयोध्या का है। विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल वीडियो की विस्‍तार से जांच की तो पता चला कि मंदिर में सिर झुकाते बंदर का यह वीडियो अयोध्या नहीं, बल्कि लखनऊ के मोहान रोड स्थित सिद्धपीठ बुद्धेश्वर मंदिर का है। वीडियो को अब भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘रवि पुरोहित’ ने 8 जनवरी 2023 को वायरल वीडियो को शेयर किया था। कैप्शन में लिखा गया है, “ अद्भुत भक्तिभाव, एक वानर में दिव्य शक्ति के प्रति ऐसी अटूट आस्था एक दुर्लभ उदाहरण है ।अयोध्या में एक वानर प्रतिदिन श्री रामचन्द्र जी के दर्शन करने के लिए आता है । नित्य प्रति निडरता के साथ रामजी के दर्शन (साष्टांग प्रणाम) करता है । कुत्ते उस पर भौंकते है उन्हें भी डरा कर भगा देता है, उसके बाद भगवान शंकर के आगे साष्टांग दंडवत प्रणाम करता है । “

पोस्‍ट के कंटेंट को यहां ज्‍यों का त्‍यों लिखा गया है। इसे दूसरे यूजर्स भी वायरल कर रहे हैं। इसका आकाईव वर्जन यहां देखें।

पड़ताल

वायरल वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने वीडियो को ध्यान से सुना। वीडियो में किसी व्यक्ति को बाबा बुद्धेश्वर मंदिर कहते हुए सुना जा सकता है। हमने इसी कीवर्ड से गूगल पर सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो से जुड़ी एक रिपोर्ट टाइम्स नाउ हिंदी की वेबसाइट पर 31 दिसंबर 2022 को मिली। खबर में वीडियो के स्क्रीनशॉट का इस्तेमाल करते हुए इसे लखनऊ का ‘बाबा बुद्धेश्वर दरबार’ मंदिर बताया गया है।

सर्च के दौरान हमें ‘बुद्धेश्वर महादेव मंदिर’ लखनऊ नाम के एक यूट्यूब चैनल पर भी वायरल वीडियो अपलोड मिला। 23 दिसंबर 2022 को अपलोड वीडियो में कैप्शन लिखा गया था ,”‘#बजरंगबली #हनुमान जी #दर्शन करने आते हैं #बुद्धेश्वर महादेव मंदिर लखनऊ में।”

पड़ताल में हमें नवभारत टाइम्स के यूट्यूब चैनल पर 31 दिसंबर 2022 को वायरल वीडियो को लेकर मंदिर के पुजारियों और भक्तों का इंटरव्यू वीडियो मिला। वीडियो में उन्हें यह कहते सुना जा सकता है, “बंदर पिछले 2 महीनों से नियमित रूप से मंदिर में आ रहा है। पहले भगवान की मूर्ति के आगे लेटकर उन्हें प्रमाण करता है। इसके बाद चुपचाप वहां रखा प्रसाद लेकर शांति से चला जाता है।”

वीडियो के कैप्शन में लिखा गया है,”लखनऊ: भगवान हनुमान का वानर रूप एक बंदर और मंदिर से जुड़ा वीडियो सोशल मीडिया पर आजकल जमकर वायरल हो रहा है। ये बंदर रोज मंदिर आता है, पहले भगवान की मूर्ति के आगे लेटकर उन्हें प्रणाम करता है। इसके बाद चुपचाप वहां रखा प्रसाद लेकर शांति से चला जाता है। बंदर एक-दो दिन से नहीं, बल्कि महीनों से ऐसा करता चला आ रहा है। दरअसल ये मामला उत्तर प्रदेश के लखनऊ में सामने आया है। लखनऊ बुद्धेश्वर महादेव मंदिर में एक बंदर रोज श्रद्धालुओं की तरह आता है। इसके बाद भगवान परशुराम और बाबा बुद्धेश्वर को दंडवत प्रणाम करता है। यहां रखा प्रसाद लेकर वो शांति से लौट जाता है। बुद्धेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी ने बताया कि बंदर रूप में बजरंगबली रोज यहां दर्शन करने आते हैं। प्रसाद ग्रहण करने के बाद फिर चले जाते हैं।”

फेसबुक और ट्विटर पर भी कई यूजर्स ने इसे लखनऊ के बुद्धेश्वर महादेव मंदिर का वीडियो बताया है।

ज्यादा जानकारी के लिए हमने दैनिक जागरण के लखनऊ के डिप्टी न्यूज़ एडिटर धर्मेंद्र पांडे से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि वायरल वीडियो लखनऊ के बुद्धेश्वर मंदिर का है। वायरल दावा गलत है।

विश्वास न्यूज ने दैनिक जागरण के अयोध्या संवाददाता राम शरण अवस्थी से भी संपर्क किया, जिन्होंने हमें बताया कि यह अयोध्या का वीडियो नहीं है।

पड़ताल के अंत में विश्वास न्यूज ने भ्रामक दावे के साथ वीडियो शेयर करने वाले यूजर रवि पुरोहित के फेसबुक हैंडल की सोशल स्कैनिंग की। फेसबुक पर यूजर के 26 मित्र हैं। यूजर को 9 लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो अयोध्या नहीं, बल्कि लखनऊ के बाबा बुद्धेश्वर मंदिर का है,जिसे भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

  • Claim Review : अयोध्या में एक वानर रोज भगवन के दर्शन करने के लिए आता है।
  • Claimed By : Ravi Purohit
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later