X

Fact Check: यह व्यक्ति नहीं है 800 बच्चों का पिता, हास्य- विनोद के मकसद से लिखे गए काल्पनिक लेख को असली समझ शेयर कर रहे हैं लोग

विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह कोई असली घटना नहीं, बल्कि हास्य-विनोद के मकसद से लिखे गए काल्पनिक आर्टिकल का स्क्रीनशॉट है। इस आर्टिकल को ‘डेली न्यूज रिपोर्टेड’ नाम की वेबसाइट पर छापा गया था। यह वेबसाइट केवल काल्पनिक और व्यंग्यपूर्ण कहानियां प्रकाशित करती है।

  • By Vishvas News
  • Updated: January 18, 2022

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली): विश्वास न्यूज को सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म पर एक पोस्ट मिला। पोस्ट में एक बुज़ुर्ग व्यक्ति की तस्वीर है और इसके ऊपर एक हेडलाइन लिखी है और तस्वीर के नीचे भी इसी हेडलाइन का उल्लेख है। पोस्ट के साथ लिखी हेडलाइन के अनुसार, कैलिफोर्निया के रहने वाले इस व्यक्ति के 800 बच्चे हैं। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह कोई असली घटना नहीं, बल्कि हास्य-विनोद के मकसद से लिखे गए काल्पनिक आर्टिकल का स्क्रीनशॉट है। इस आर्टिकल को ‘डेली न्यूज रिपोर्टेड’ नाम की वेबसाइट पर छापा गया था। यह वेबसाइट केवल काल्पनिक और व्यंग्यपूर्ण कहानियां प्रकाशित करती है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

वायरल स्क्रीनशॉट में बुज़ुर्ग व्यक्ति की तस्वीर के नीचे लिखा है, “एफबीआई अधिकारियों द्वारा हाल ही में किए गए डीएनए परीक्षण में पाया कि कैलिफोर्निया में एक दूध बेचने वाला व्यक्ति 800 से अधिक बच्चों का पिता है।” लेख के अनुसार, दक्षिणी कैलिफोर्निया में दूध बेचने वाले रान्डेल (रैंडी) जेफ्रीस के गृहिणियों के साथ कई अवैध संबंध थे।

यहां पोस्ट और उसके आर्काइव लिंक को देखा जा सकता है।

पड़ताल:

विश्वास न्यूज ने सबसे पहले इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज का इस्तेमाल करके ढूंढा। हमें यह तस्वीर फोटो एजेंसी sunshine-city.top। यहाँ इस तस्वीर के साथ ऐसी कोई जानकारी नहीं की गयी थी, जो वायरल आर्टिकल में थी। तस्वीर का डिस्क्रिप्शन था, “Old Man In Hat”.

वायरल आर्टिकल में ‘डेली न्यूज रिपोर्टेड’ के आर्टिकल का हवाला दिया गया है। कीवर्ड्स के साथ ढूंढ़ने पर हमें यह आर्टिकल ‘डेली न्यूज रिपोर्टेड’ की वेबसाइट पर 24 दिसंबर, 2021 पब्लिश्ड मिला। इस वेबसाइट पर वेबसाइट के नाम के नीचे लिखा था, “DAILY NEWS REPORTED: NOT QUITE DAILY. NOT QUITE NEWS.” यहाँ हमें अंदेशा हुआ, क्योंकि कोई भी विश्वसनीय वेबसाइट ऐसा टैग लाइन नहीं रखेगा।

हमने पुष्टि के लिए डेली न्यूज रिपोर्टेड की वेबसाइट का अबाउट उस सेक्शन खंगाला। यहाँ लिखा था, “Daily News Reported is a fabricated satirical newspaper and comedy website. Daily News Reported uses invented names in all its stories, except in cases when public figures are being satirized. Any other use of real names is accidental and coincidental. Daily News Reported is not intended for people under 18 years of age.” जिसका हिंदी अनुवाद होता है “डेली न्यूज रिपोर्टेड एक मनगढ़ंत व्यंग्य समाचार पत्र और कॉमेडी वेबसाइट है। डेली न्यूज रिपोर्टेड ने अपनी सभी कहानियों में आविष्कृत नामों का उपयोग किया है, सिवाय उन मामलों को छोड़कर जब सार्वजनिक हस्तियों पर व्यंग्य किया जा रहा हो। वास्तविक नामों का कोई अन्य उपयोग आकस्मिक और संयोग है। डेली न्यूज रिपोर्टेड 18 साल से कम उम्र के लोगों के लिए अभिप्रेत नहीं है।”

साफ़ था कि यह हास्य-विनोद के मकसद से लिखा गया एक काल्पनिक आर्टिकल था। हमने पुष्टि के लिए डेली न्यूज रिपोर्टेड से मेल के ज़रिये संपर्क साधा। जवाब में बताया गया “डेली न्यूज रिपोर्टेड एक मनगढ़ंत व्यंग्य समाचार पत्र और कॉमेडी वेबसाइट है। यहाँ छपी खबर हास्य के मकसद से लिखी जाती है।”

हमने इस विषय में कैलिफ़ोर्निया स्थित फ्रीलान्स जर्नलिस्ट प्रतीक गोयल से संपर्क साधा। उन्होंने हमें बताया कि इस तरह का कोई मामला कैलिफ़ोर्निया में सामने नहीं आया है।

विश्वास न्यूज ने जांच के आखिरी चरण में उस प्रोफाइल की पृष्ठभूमि की जांच की, जिसने वायरल पोस्ट को साझा किया था। Pramod Kumar Kushwaha बेंगलुरु में रहता है और उसे फेसबुक पर 456 यूजर्स फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह कोई असली घटना नहीं, बल्कि हास्य-विनोद के मकसद से लिखे गए काल्पनिक आर्टिकल का स्क्रीनशॉट है। इस आर्टिकल को ‘डेली न्यूज रिपोर्टेड’ नाम की वेबसाइट पर छापा गया था। यह वेबसाइट केवल काल्पनिक और व्यंग्यपूर्ण कहानियां प्रकाशित करती है।

  • Claim Review : दुधवाला निकला... 800 बच्चों का पिता.. DNA Test
  • Claimed By : Pramod Kumar Kushwaha
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later