X

Fact Check: मुंबई हमले में शहीद हुए तुकाराम ओंबले की नहीं है ये वायरल तस्वीर, फिल्म का सीन गलत दावे के साथ हुआ वायरल

दिवंगत तुकाराम ओंबले के नाम से जो तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, वह एक फिल्म का सीन है। जिसे अब गलत दावों के साथ शेयर किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 26, 2021

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया पर पुलिस की वर्दी पहने खून से लहूलुहान जमीन पर पड़े एक शख्स की तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर 26/11 अटैक में शहीद हुए कॉन्स्टेबल स्वर्गीय तुकाराम ओंबले की है। फेसबुक और ट्विटर पर यूजर्स इस तस्वीर को शेयर कर स्वर्गीय तुकाराम ओंबले को श्रद्धांजलि दे रहे हैं। विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा भ्रामक निकला। दिवंगत तुकाराम ओंबले के नाम से जो तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, वह एक फिल्म का सीन है। जिसे अब गलत दावों के साथ शेयर किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर Girija Shanker Shukla ने वायरल तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है, स्वर्गीय तुकाराम ओम्बले जी! कितना बड़ा कलेजा चाहिए AK-47 की नली के सामने अपनी छाती कर के सैकड़ों लोगों को मार चुके राक्षस का गिरेबान पकड़ने के लिए… एक गोली, दो गोली, दस गोली, बीस गोली… चालीस गोली… चालीस गोलियां कलेजे के आरपार हो गईं पर हाथ से उस राक्षस की कॉलर नहीं छूटी। प्राण छूट गया, पर अपराधी नहीं छूटा… कर्तव्य निर्वहन का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है यह। स्वर्गीय ओम्बले सेना में नायक थे। सेना से रिटायर होने के बाद उन्होंने मुंबई पुलिस ज्वाइन की थी। चाहते तो पेंशन ले कर आराम से घर रह सकते थे। पर नहीं, वे जन्मे थे लड़ने के लिए, जीतने के लिए।

वायरल पोस्‍ट के कंटेंट को यहां ज्‍यों का त्‍यों लिखा गया है। पोस्‍ट के आर्काइव्‍ड वर्जन को यहां देखें।

पड़ताल –

वायरल दावे की सच्चाई जानने के लिए सबसे पहले हमने तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल तस्वीर से जुड़ा 4 मिनट 36 सेकेंड का एक वीडियो Eros Now Movies Preview के यूट्यूब चैनल पर मिला। वीडियो के डिस्क्रिप्शन में दी गई जानकारी के मुताबिक, यह मूवी The Attacks Of 26/11 का सीन है, जिसमें पुलिसकर्मी स्कोडा कार में भाग रहे एक आतंकी को पकड़ने के लिए बैरिकेड लगाते हैं। 4 मिनट 36 सेकेंड के इस वीडियो में 3 मिनट 58 सेकेंड पर इस सीन को देखा जा सकता है।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ी एक रिपोर्ट टाइम्स ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर मिली। रिपोर्ट में तुकाराम गोपाल ओंबले की असली तस्वीर प्रकाशित करते हुए जानकारी दी गई है कि तुकाराम गोपाल ओंबले मुंबई पुलिस में सब इंस्पेक्टर थे। वह मुंबई पुलिस में आने से पहले सेना में अपनी सेवा दे चुके थे। ओंबले ने अजमल कसाब को जिंदा पकड़ने में अपनी जान गंवा दी थी। उन्हें सरकार द्वारा अशोक चक्र दिया गया था।

वायरल फोटो के बारे में अधिक जानकारी के लिए विश्‍वास न्‍यूज ने मुंबई में दैनिक जागरण के एंटरटेनमेंट बीट कवर करने वाली स्मिता श्रीवास्‍तव से संपर्क किया। हमने वायरल दावे को वॉट्सऐप के जरिए उनके साथ शेयर किया। उन्होंने हमें बताया कि वायरल दावा गलत है। ये The Attacks Of 26/11 का एक सीन है, जिसे अक्सर लोग असली समझकर शेयर कर देते हैं। वास्तव में यह सुनील जाधव हैं, जिन्होंने इस फिल्म में तुकाराम का रोल प्ले किया था।

पड़ताल के अंत में हमने इस पोस्ट को शेयर करने वाले फेसबुक यूजर की सोशल स्कैनिंग की। स्कैनिंग से हमें पता चला कि फेसबुक यूजर Girija Shanker Shukla उत्तर प्रदेश के लखनऊ शहर के रहने वाले हैं। उनका फेसबुक अकाउंट साल 2010 से सक्रिय है।

निष्कर्ष: दिवंगत तुकाराम ओंबले के नाम से जो तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, वह एक फिल्म का सीन है। जिसे अब गलत दावों के साथ शेयर किया जा रहा है।

  • Claim Review : स्वर्गीय तुकाराम ओम्बले जी! कितना बड़ा कलेजा चाहिए AK-47 की नली के सामने अपनी छाती कर के सैकड़ों लोगों को मार चुके राक्षस का गिरेबान पकड़ने के लिए... एक गोली, दो गोली, दस गोली, बीस गोली... चालीस गोली... चालीस गोलियां कलेजे के आरपार हो गईं पर हाथ से उस राक्षस की कॉलर नहीं छूटी। प्राण छूट गया, पर अपराधी नहीं छूटा... कर्तव्य निर्वहन का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है यह। स्वर्गीय ओम्बले सेना में नायक थे।
  • Claimed By : Girija Shanker Shukla
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later