X

Fact Check: रायपुर में भूत उतारने के नाम पर हुई बच्ची की पिटाई के वीडियो को डीपीएस स्कूल का बता कर किया जा रहा है वायरल

हमने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है। वीडियो में मौजूद व्यक्ति का नाम दिनेश साहू है जो एक पादरी था। बच्ची के अंधविश्वासी माता-पिता को बच्ची पर भूत-प्रेत का साया होने का भ्रम था जिसके चलते वे उसे इस पादरी के पास लाये थे।

  • By Vishvas News
  • Updated: September 10, 2021

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया पर आजकल एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक पुरुष को एक बच्ची को बेरहमी से पीटते देखा जा सकता है। वीडियो में क्लेम किया जा रहा है कि ये घटना डीपीएस स्कूल राजबाग की है और वीडियो में बच्ची को पीटता दिख रहा पुरुष टीचर शकील अहमद अंसारी है। हमने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है। वीडियो में मौजूद व्यक्ति का नाम दिनेश साहू है जो एक पादरी है। बच्ची के अंधविश्वासी माता-पिता को बच्ची पर भूत-प्रेत का साया होने का भ्रम था जिसके चलते वे उसे इस पादरी के पास लाये थे।

क्या है वायरल पोस्ट में?

वायरल वीडियो में एक पुरुष को एक बच्ची को बेरहमी से पीटते देखा जा सकता है। वीडियो में क्लेम किया जा रहा है “आप के whatsapp पे जितने भी नंबर एवं ग्रुप हैं एक भी छूटने नही चाहिए, ये वीडियो सबको भेजिए ये वलसाड के DPS SCHOOL Rajbag का टीचर शकील अहमद अंसारी है इसको इतना शेयर करो की ये टीचर और स्कूल दोनों बंद हो जाए । वीडियो वायरल होने से काफी फ़र्क पड़ता है ओर कार्यवाही होती है जिसे दया न आये वो अपना मुंह (टाइपिंग) बंद रखे ।।

विश्वास न्यूज को अपने वॉट्सऐप चैटबॉट (+91 95992 99372) पर ये दावा फैक्ट चेक के लिए मिला।

पड़ताल

इस वीडियो की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले इस वीडियो को Invid टूल पर डाल कर इस वीडियो के कीफ्रेम्स निकाले और फिर उन्हें गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमारे हाथ सर्च में haribhoomi.com की एक खबर लगी, जिसमें इस वारदात के बारे में जानकारी दी गयी थी। खबर में वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट का भी इस्तेमाल किया गया था। 10 फरवरी 2018 फाइल की गयी खबर के अनुसार “भूत भगाने के नाम पर एक पास्टर द्वारा नाबालिग की बेरहमी से पिटाई करने का वीडियो वायरल होने से सनसनी फैल गई है। जनआक्रोश को देखते हुए पुलिस ने आरोपी को ग्राम छिपली/नगरी से गिरफ्तार कर लिया है।” खबर के अनुसार घटना घटना रायपुर के संतोषी नगर की है जहाँ दिनेश साहू नाम के इस पास्टर को इस घटना के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था।

वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट के साथ यह खबर हमें divyamarathi.bhaskar.com पर भी मिली। इस खबर के अनुसार भी घटना 2018 रायपुर की है जहाँ दिनेश साहू नाम के इस पास्टर ने इस बच्ची की भूत उतारने के नाम पर पिटाई की थी।

हमने इस विषय में पुष्टि के लिए नईदुनिया के धमतरी में कार्यरत सीनियर रिपोर्टर श्री रामाधार से बात की। उन्होंने कहा “यह धमतरी के विकासखंड नगरी के गांव छिपली का मामला था। यह मामला फरवरी 2018 में सामने आया था। उस समय वीडियो वायरल हुआ था। हालांकि इस मामले में कोई स्वजन सामने नहीं आए थे इस कारण पुलिस ने आरोपित के खिलाफ 151 की प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करके इतिश्री कर ली थी। पुलिस जांच कर रही है ऐसा कहा गया लेकिन बाद में कुछ नहीं हो पाया था। साफ़ तौर पर मामला किसी स्कूल में पिटाई का नहीं, बल्कि अंध्विश्वास का था।”

इस पोस्ट को Mandeep Mandhan MandeepGohana नाम के फेसबुक यूजर द्वारा शेयर किया गया था। इस यूजर के कुल 4,835 फ़ॉलोअर्स हैं। यूजर सोनीपत का रहने वाला है।

निष्कर्ष: हमने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है। वीडियो में मौजूद व्यक्ति का नाम दिनेश साहू है जो एक पादरी था। बच्ची के अंधविश्वासी माता-पिता को बच्ची पर भूत-प्रेत का साया होने का भ्रम था जिसके चलते वे उसे इस पादरी के पास लाये थे।

  • Claim Review : ये टीचर शकील अहमद अंसारी है DPS school rajbag
  • Claimed By : पंचर पुत्र धुलाई केंद्र
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later