X

Fact Check : महिला अभिभावक के साथ बदतमीजी का यह वीडियो हैदराबाद नहीं, पटना के स्‍कूल का है

  • By Vishvas News
  • Updated: July 6, 2020

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया में एक स्‍कूल का वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें स्‍कूल से जुड़ी एक महिला को महिला अभिभावक से बदतमीजी करते हुए देखा जा सकता है। यूजर्स दावा कर रहे हैं कि वीडियो हैदराबाद के डीएवी पब्लिक स्‍कूल का है। कोरोना काल में फीस को लेकर यह विवाद हुआ।

विश्‍वास न्‍यूज की जांच में वायरल पोस्‍ट भ्रामक साबित हुई। दरअसल ओरिजनल वीडियो पटना का है। पिछले महीने यानी जून में यह घटना पटना के बिशप स्कॉट गर्ल्स स्कूल में हुई थी। उसी वीडियो को अब कुछ लोग अलग-अलग शहरों के नाम से वायरल कर रहे हैं।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक यूजर सोहेल साबरी ने 29 जून को एक वीडियो को अपलोड करते हुए दावा किया, हैदराबाद के डीएवी पब्लिक स्‍कूल की प्रिंसिपल और स्‍टाफ ने अभिभावकों के साथ बदतमीजी की।

इस पोस्‍ट के साथ लिखा गया : ‘See the conduct of DAV PUBLIC SCHOOL Kukatpally, #Hyderabad, The Principal & School staff have looted the parents. Please circulate this video to be reached by ministry of Education and KTR for necessary action.’

इस वीडियो को दूसरे यूजर्स भी हैदराबाद का बताकर वायरल कर रहे हैं।

वायरल पोस्‍ट का फेसबुक और आकाईव वर्जन देखें।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल वीडियो को ध्‍यान से देखा। इसमें एक महिला को स्‍कूल से जुड़े लोगों से फीस पर बात करते हुए मोबाइल से वीडियो बनाते हुए देखा जा सकता है। इसके बाद कुर्सी पर बैठी महिला अभिभावक के साथ बदतमीजी करने लगती हैं। इस वीडियो को हमने InVID टूल में अपलोड करके कई स्‍क्रीनशॉट निकाले और इन्‍हें गूगल रिवर्स इमेज में सर्च करना शुरू किया।

सर्च के दौरान हमें यही वीडियो जनता की आवाज नाम की एक वेबसाइट पर एक खबर से साथ मिली। खबर में पटना के बिशप स्‍कॉट गर्ल्‍स स्‍कूल की संचालिका ने एक महिला अभिभावक के साथ स्‍कूल की फीस को लेकर बदतमीजी करते हुए मोबाइलन छीनने का प्रयास किया। इसके बाद सरकार ने स्‍कूल प्रबंधन के खिलाफ जांच के आदेश दिया। पूरी खबर आप यहां पढ़ सकते हैं।

मामले की हकीकत जानने के लिए विश्‍वास न्‍यूज ने दैनिक जागरण पटना के ऑनलाइन प्रभारी अमित आलोक से बात की। उन्‍होंने हमें जानकारी देते हुए बताया कि ये पटना के बिशप स्‍कॉट स्‍कूल का वीडियो है। मामला लॉकडाउन के दौरान अभिभावकों से बच्‍चों का ट्रांसपोर्ट चार्ज मांगने पर स्‍कूल की निदेशक के एक अभिभावक से हुए विवाद का है।

इसके बाद हमने वायरल पोस्‍ट करने वाले यूजर की जांच की। सोशल स्‍कैनिंग से हमें पता चला कि सोहल साबरी नाम का यह यूजर हैदराबाद में रहता है। उसके अकाउंट को 1577 लोग फॉलो करते हैं। एक खास दल से जुड़ी खबरें, तस्‍वीरें और वीडियो हमें इस अकाउंट पर ज्‍यादा मिलीं।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की जांच में पता चला कि हैदराबाद के डीएवी पब्लिक स्‍कूल के नाम से वायरल वीडियो पटना का है। लॉकडाउन में फीस को लेकर महिला अभिभावक और स्‍कूल की निदेशिका से हुए विवाद के इस वीडियो को अब कुछ लोग हैदराबाद के नाम से वायरल कर रहे हैं। हमारी जांच में वायरल पोस्ट भ्रामक साबित हुई।

  • Claim Review : हैदराबाद के डीएवी पब्लिक स्‍कूल की बदतमीजी
  • Claimed By : फेसबुक यूजर सोहेल साबरी
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later