X

Fact Check वायरल फोटो में एक्ट्रेस पूनम पांडेय नहीं है, पोस्ट भ्रामक है

विश्वास न्यूज़ ने इस पोस्ट की पड़ताल की तो हमनें पाया की फोटो में नज़र आरही महिला एक्ट्रेस पूनम पांडेय नहीं हैं। हालाँकि ख़बरों के मुताबिक उनके अस्पताल में भर्ती होने का दावा सही हैं।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 11, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। सोशल मीडिया पर एक्ट्रेस और मॉडल पूनम पांडेय के नाम पर एक महिला की फोटो वायरल हो रही है। वायरल तस्वीर में हॉस्पिटल के बेड पर दर्दनाक हालत में लेटे हुए जा सकता है। इसी तस्वीर को शेयर करते हुए यूजर दावा कर रहे हैं की यह एक्ट्रेस पूनम पांडेय हैं जो अपने के ज़रिये की गई प्रताड़ना के बाद अस्पताल में भर्ती हैं। विश्वास न्यूज़ ने इस पोस्ट की पड़ताल की तो हमनें पाया की फोटो में नज़र आरही महिला एक्ट्रेस पूनम पांडेय नहीं हैं। हालाँकि ख़बरों के मुताबिक उनके अस्पताल में भर्ती होने का दावा सही हैं।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर ने वायरल फोटो को अपलोड किया और यह C ग्रेड की पूनम पांडे है जो अक्सर अपने उल जुलूल हरकतों से सोशल मीडिया पर चर्चा में बनी रहती हैं। यह हिंदुत्व को और हिंदुओं को हिंदू देवी देवताओं पर भी अभद्र टिप्पणी करती रहती है। फिर सेकुलरिज्म के ज्यादा चुल्ल मचने पर इन्होंने शमशाद अली उर्फ सैम बॉम्बे से निकाह किया। यह भूल गई कि शमशाद अली जिस धर्म का है वह धर्म कहता है कि महिलाएं तुम्हारी खेत हैं जैसे तुम अपने खेत में किसी भी रास्ते से जा सकते हो वैसे ही तुम अपनी महिलाओं में किसी भी रास्ते के प्रवेश कर सकते हैं फिर शमशाद अली एक बार और उन्हें बुरी तरह से कुटा था और अपने खेत में यानी अपनी बेगम में हर तरह से जबरदस्ती प्रवेश करने लगा फिर पुल्स केस हुआ। अननेचुरल के तहत केस दर्ज करवाया। बाद में समझौता हो गया। और इस बार शमशेद ने इन्हें इतनी बुरी तरह से कुटा कि इनका जबड़ा टूट गया इनकी आंख पर चोट आई इनके गर्दन में मोच आई अभी अस्पताल में भर्ती हैं। जय सेकुलरिज्म जय चुल्ल।”

पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहाँ देखें।

पड़ताल

अपनी पड़ताल को शुरू करते हुए सबसे पहले हमनें गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया और सर्च में हमें जागरण की वेबसाइट पर 15 सितम्बर 2018 को पब्लिश हुए इस आर्टिकल में हमें वायरल तस्वीर देखने को मिली। यहाँ खबर के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘पूनम हत्याकांड की एकमात्र चश्मदीद अर्शी पांडे 18 दिन बाद गुरुवार को अस्पताल से डिस्चार्ज हो गई। दोपहर में परिजन उसे लेकर घर चले गए। हालांकि सुरक्षा के मद्देनजर घर पर पुलिस का पहरा रहेगा।’

इसी मामले से जुडी अपडेटेड खबर हमें 11 सितम्बर 2021 को जागरण की वेबसाइट पर मिली। खबर में दी गई मालूमात के मुताबिक, ’27 अगस्त 2018 की रात हल्द्वानी के मंडी चौकी क्षेत्र के गोरापड़ाव में ट्रांसपोर्टर लक्ष्मी दत्त पांडे के घर में उनकी पत्नी पूनम और बेटी पर अज्ञात लोगों ने धारदार हथियार से हमला कर दिया था, जिसमें पूनम की मौत हो गई थी, जबकि बेटी कई दिनों तक अस्पताल में मौत से जूझती रही। इस बहुचर्चित हत्याकांड के पर्दाफाश के लिए पुलिस की कई टीमें लगाई गईं। देहरादून तक इस हत्याकांड की गूंज उठी, मगर वारदात से पर्दा तीन साल बाद भी नहीं उठ सका। ‘

अब तक की पड़ताल से यह तो साफ था की वायरल तस्वीर में नज़र आरही महिल एक्ट्रेस पूनम पांडेय नहीं है। हालाँकि पड़ताल के दुसरे चरण में हमनें वायरल दावे की की तफ्तीश शुरू की।

9 नवंबर 2021 की खबर के मुताबिक, ”अभिनेत्री पूनम पांडे एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। उनके पति सैम बॉम्बे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सैम बॉम्बे पर पूनम पांडे के साथ मारपीट करने का आरोप है। मुंबई पुलिस ने उनपर यह कार्यवाई पूनम पांडे की शिकायत के बाद की है। इतना ही नहीं सैम बॉम्बे ने अभिनेत्री के साथ इतनी मारपीट की है कि वह अस्पताल में भर्ती हैं। एएनआई की खबर के अनुसार पूनम पांडे गंभीर रूप से घायल हैं। उनके सिर, आंख और चेहरे पर गंभीर चोट है, जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है।”

वायरल पोस्ट से जुडी पुष्टि के लिए हमनें एंटरटेनमेंट को कवर करने वाले रिपोर्टर पराग छापेकर से संपर्क किया और वायरल पोस्ट उनके साथ की। उन्होंने हमें बताया की, ‘पूनम पांडेय हॉस्पिटल में एडमिट हैं। लेकिन यह वायरल फोटो उनकी नहीं है।

भ्रामक पोस्ट को शेयर करने वाले फेसबुक यूजर पीताम्बर साहू की सोशल स्कैनिंग में हमनें पाया की यूजर को 559 लोग फॉलो करते हैं। और यूजर एफबी पर काफी एक्टिव भी रहता है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने इस पोस्ट की पड़ताल की तो हमनें पाया की फोटो में नज़र आरही महिला एक्ट्रेस पूनम पांडेय नहीं हैं। हालाँकि ख़बरों के मुताबिक उनके अस्पताल में भर्ती होने का दावा सही हैं।

  • Claim Review : यूजर दावा कर रहे हैं की यह एक्ट्रेस पूनम पांडेय हैं जो अपने के ज़रिये की गई प्रताड़ना के बाद अस्पताल में भर्ती हैं।
  • Claimed By : पीताम्बर साहू
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later