X

पूरा सचः Infibeam के शेयर को गिराने वाले व्हाट्सऐप मैसेज की जानें हकीकत

  • By Vishvas News
  • Updated: September 29, 2018

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। फेक न्यूज से कैसे किसी को नुकसान होता है। यह Infibeam के शेयर गिरने के मामले से समझा जा सकता है। सोशल मीडिया पर तेजी से फैले एक मैसेज के कारण इंफीबीम के शेयर धाराशायी हो गए। कंपनी के एजीएम (वार्षिक बैठक) से एक दिन पहले कंपनी का शेयर 71 फीसद तक लुढ़क गया, जिससे निवेशकों का करीब 1600 करोड़ रुपये एक झटके में स्वाहा हो गया।

मार्केट में आई इतनी बड़ी खबर के बाद जागरण ने इस मामले में तहकीकात करने का फैसला किया, ताकि सच सामने आ सके। किसी भी कंपनी के शेयर में एक दिन में शेयरों में इतनी भारी गिरावट किसी ‘’बुरी खबर’’ या ‘छिपाई गई जानकारी के अचानक खुलासा होने’ के बाद ही हो सकती है। इंफीबीम के बारे में ऐसी कोई जानकारी नहीं थी। कंपनी के शेयरों में यह गिरावट उसके AGM से ठीक एक दिन पहले आई।

जागरण की जांच पड़ताल
चूंकि यह खबर स्टॉक मार्केट से संबंधित थी, इसलिए सबसे पहले हमें यह चेक करना था कि क्या कंपनी ने ऐसी कोई जानकारी छिपाई है, जो शेयरों की गति को प्रभावित कर सकती थी। इसके लिए हमने दोनों स्टॉक एक्सचेंज BSE, NSE पर कंपनी की तरफ से जारी नोटिफिकेशंस को चेक किया।

स्टॉक मार्केट नोटिफिकेशंस

स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी मे कंपनी ने साफ कर दिया कि उसने अपने AGM से पहले ऐसी कोई जानकारी नहीं छिपाई है, जो शेयरों की कीमतों में उतार-चढ़ाव को प्रभावित कर सकती है।
कंपनी के इस स्पष्टीकरण के बाद यह जानना जरूरी था कि आखिर शेयरों में यह गिरावट आई क्यों?
1. खोज करने पर पता चला कि एक्वेरिस सिक्योरिटीज प्राइवेट (Equirus Securities) लिमिटेड के नाम से व्हाट्सएप पर कंपनी लेकर एक मैसेज फैलना शुरू हुआ और देखते ही देखते हुए कंपनी का शेयर टूटने लगा।
2. मैसेज में यह बताया गया था कि व्हाट्सएप मैसेज में अन्य बातों के अलावा इस बात का कथित रूप से जिक्र है कि उसने अपनी यूनिट्स को ब्याज मुक्त अनसिक्योर्ड लोन दे रखा है।
इन दावों की सच्चाई के लिए कंपनी के फाइनैंस को देखना जरूरी था. इसके लिए हमने कंपनी के Annual Report को देखा, जिसमें यह जानकारी सामने आई।

रिपोर्ट बताती है कि कंपनी ने अपनी सब्सिडियरी कंपनियों को 31 मार्च 2018 तक 135 करोड़ रुपये का लोन दे रखा था। इस तथ्य की जानकारी कंपनी ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट के साथ-साथ स्टॉक एक्सचेंज को भी दी थी। इसका साफ मतलब है कि कंपनी ने कोई जानकारी नहीं छुपाई है जिसका जिक्र वाट्सऐप मैसेज में किया जा रहा है।

पूरा सच जानें…सब को बताएं
सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी भी ऐसी किसी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज, और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। ईमेल कर सकते हैं। वाट्सऐप्प के माध्यम से सूचना दे सकते है।

  • Claim Review : Infibeam shares will plunge
  • Claimed By : Whatsapp
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later