X

Fact Check : शिवसेना को लेकर सोशल मीडिया पर फैला झूठ, तस्‍वीर से लेकर फर्जी लेटर तक वायरल

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। महाराष्‍ट्र में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी की सरकार भले ही बन गई हो लेकिन सोशल मीडिया में शिवसेना और उसके नेताओं से जुड़ी फर्जी पोस्‍ट लगातार वायरल हो रही हैं। कभी कोई शिवसेना के भगवा कलर की फोटो को हरे रंग में तब्‍दील करके दावा कर रहा है कि पार्टी ने अपना लोगो बदल लिया है। तो कभी कोई जमीयत उलेमा ए हिंद का फर्जी लेटर वायरल करके दावा कर रहा है कि इन्‍होंने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर आगाह किया है कि शिवसेना को समर्थन न दे। इतना ही नहीं, एक ऐसी फर्जी तस्‍वीर भी वायरल हुई, जिसमें उद्धव ठाकरे को सोनिया गांधी की तस्‍वीर के आगे नतमस्‍तक देखा जा सकता है। विश्‍वास न्‍यूज ने शिवसेना की छवि को खराब करने के लिए फैलाई जा रही हर वायरल पोस्‍ट की तहकीकात की।

शिवसेना की असली तस्‍वीर को हरे रंग में बदल दिया गया

फेसबुक पर एक फोटोशॉप्‍ड तस्‍वीर को वायरल करते हुए दावा किया गया कि यह शिवसेना के नए लोगो की तस्‍वीर है। तस्‍वीर में हरे रंग के बैकग्राउंड में शिवसेना लिखा हुआ। इसके अलावा उद्धव ठाकरे को हरे रंग की शर्ट में देखा जा सकता है। विश्‍वास टीम ने जब इसकी पड़ताल की तो पता चला कि शिवसेना की वेबसाइट पर मौजूद एक वीडियो से तस्‍वीर को उठाकर उसका रंग बदलकर गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। असली तस्‍वीर में बैकग्राउंड कलर हरा नहीं, बल्कि भगवा है। भगवा रंग को फोटॉशाप टूल की मदद से हरे रंग में तब्‍दील कर दिया गया है। विश्‍वास न्‍यूज ने शिवसेना की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी से संपर्क किया। उन्‍होंने बताया कि वायरल पोस्‍ट पूरी तरह फेक है। पार्टी के लोगो या उसके कलर में किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं किया गया।

जमीयत उलेमा ए हिंद ने सोनिया गांधी को नहीं लिखा शिवसेना को लेकर पत्र

सोशल मीडिया में जमीयत उलेमा ए हिंद का फर्जी लेटर वायरल हो रहा है। सुरभि भट्टाचार्य नाम की एक फेसबुक यूजर ने 20 नवंबर को जमीयत उलेमा ए हिंद का फेक लेटर अपलोड करते हुए दावा किया कि जमीयत उलेमा ए हिंद ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर महाराष्‍ट्र में शिवसेना को समर्थन नहीं देने की अपील की है। विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में यह पत्र फर्जी निकला। जमीयत उलेमा ए हिंद ने ऐसा कोई भी पत्र सोनिया गांधी को नहीं लिखा है। जमीयत की ओर से बताया गया कि महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जमीयत उलेमा-ए-हिंद का ये लेटर झूठ हैं। जमीयत ने ऐसा कोई लेटर जारी नहीं किया।

क्‍या वाकई सोनिया गांधी की तस्‍वीर के सामने उद्धव ठाकरे हुए नतमस्‍तक?

फेसबुक पर एक तस्‍वीर को वायरल करते हुए दावा किया गया कि उद्धव ठाकरे सोनिया गांधी की तस्‍वीर के आगे नतमस्‍तक हुए। जबकि हमारी पड़ताल में पता चला कि ओरिजनल तस्‍वीर में सोनिया गांधी की जगह बाल ठाकरे की फोटो थी। इसे फोटोशॉप टूल की मदद से छेड़छाड़ करके वायरल किया गया।

आदित्‍य ठाकरे की अजमेर शरीफ दरगाह की पुरानी तस्‍वीर गलत दावे के साथ वायरल

सोशल मीडिया में शिवसेना के आदित्‍य ठाकरे की एक फोटो वायरल हो रही है। यूजर्स दावा कर रहे हैं कि महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव के बाद आदित्‍य ठाकरे सीएम बनने की मन्‍नत मांगने अजमेर दरगाह गए थे। विश्वास न्यूज की पड़ताल में पोस्ट फर्जी साबित हुई है। वे महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद अजमेर शरीफ की दरगाह पर नहीं गए थे। मामले की तह में जाने के लिए हमने आदित्य ठाकरे से संपर्क साधा। उन्होंने बताया कि विधानसभा चुनाव के रिजल्ट आने के बाद वे घर से नहीं निकल पाए है। अजमेर शरीफ दरगाह जाने का दावा पूरी तरह मनगढ़ंत है।

लोकसभा चुनाव हो या फिर विधान सभा का चुनाव, सोशल मीडिया पर ऐसे मौकों पर झूठ की बाढ़ आ जाती है। विश्‍वास न्‍यूज हर बार अपने रीडर्स को ऐसे झूठ से बचाने के लिए इनकी पड़ताल करता है। पड़ताल से जुड़ीं खबरों के लिए क्लिक करें www.vishvasnews.com

जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

पूरा सच जानें...

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later