X

Fact Check: दिल्ली विधानसभा चुनावों में BJP के 8 सीटों पर 100 वोटों के अंतर से हारने का दावा गलत

  • By Vishvas News
  • Updated: February 14, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रही है, जिसमें बीजेपी के 8 विधानसभा सीटों पर महज़ 100 वोटों के अंतर से हारने का दावा किया जा रहा है। विश्वास न्यूज़ की जांच में यह दावा गलत निकला। दिल्ली में किसी भी विधानसभा सीट पर बीजेपी की हार का मार्जिन 100 वोट या उसके आस-पास भी नहीं था।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘Harsh Vashisht’ ने एक अपने अकाउंट से एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा है, ”BJP lost by less than:
100 votes: 8 Seats
1,000 votes:19 Seats
2,000 votes: 9 Seats
Add this seat won 8
It comes to 44 seat.”

हिंदी में इसे ऐसे पढ़ा जा सकता है-”8 सीटों पर 100 मतों के अंतर से, 19 सीटों पर 1,000 मतों के अंतर से और 9 सीटों पर 2,000 मतों के अंतर से बीजेपी हारी। अगर इसमें उसकी जीती गई 8 सीटों को मिला दें तो आंकड़ा 44 होता है। ”

पड़ताल

सर्च में हमें पता चला कि इस डेटा को सबसे पहले भारतीय जनता पार्टी के सांसद सत्यदेव पचौरी ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया था। हालांकि,बाद में उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया। ट्वीट के आर्काइव वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

डिलीट किए गए ट्वीट का आर्काइव वर्जन

दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों के लिए 8 फरवरी को मतदान हुआ था जिसके नतीजे 11 फरवरी को आये। चूंकि, वायरल किये जा रहे डेटा में उम्मीदवारों की हार और जीत का दावा किया जा रहा है इसलिए हमने इसकी सत्यता जांचने के लिए चुनाव आयोग की वेबसाइट पर मौजूद चुनाव परिणामों को खंगाला।

आयोग के आंकड़ों के मुताबिक़ दिल्ली की 70 सीटों में से बीजेपी को मात्र 8 सीटों पर जीत मिली है जबकि आप के खाते में 62 सीटें आई है। वायरल पोस्ट में सभी दावे बीजेपी उमीदवारों की हार के मार्जिन को लेकर किया गया है, इसलिए हमने सभी 70 सीटों के उम्मीदवारों की जीत और हार के अंतर को जांचा।


Source: ECI

पहला दावा – 8 सीटों पर 100 वोटों के अंतर से हारी बीजेपी

चुनाव आयोग की वेबसाइट पर दिए गए डेटा के मुताबिक़ 70 में से किसी भी सीट पर बीजेपी उम्मीदवार की हार का मार्जिन 100 मतों या उसके आस-पास का भी नहीं है।

इसलिए यह दावा गलत साबित होता है कि दिल्ली में 8 सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवारों की हार का मार्जिन 100 मतों का रहा।

दूसरा दावा – 19 सीटों पर 1000 वोटों के अंतर से हारी बीजेपी

आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, बिजवासन विधानसभा सीट में उम्मीदवारों की जीत और हार का मार्जिन 753 वोटों का था। आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार भूपेंद्र सिंह को 753 वोटों से जीत मिली। वहीं, एक अन्य सीट पर भी उम्मीदवारों की जीत-हार का मार्जिन 1000 मतों से कम का था। लक्ष्मीनगर सीट से बीजेपी के उम्मीदवार को 880 मतों से जीत मिली। हमने पाया कि इन्हीं दो सीटों पर उम्मीदवारों की हार का मार्जिन 1000 नहीं, बल्कि उससे भी कम मतों का था।

यानि यह दावा भी गलत है कि दिल्ली में बीजेपी को 19 सीटों पर 1000 मतों के अंतर से हार का सामना करना पड़ा।

Source: ECI

तीसरा दावा – 9 सीटों पर 2000 वोटों के अंतर से हारी बीजेपी

चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, आदर्श नगर विधानसभा सीट पर आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार राज कुमार भाटिया को 1589 मतों से जीत हासिल हुई थी। इसके अलावा हमें ऐसी कोई दूसरी सीट नहीं मिली जहां पर जीत या हार का मार्जिन 2000 वोट या उसके आस-पास रहा हो।

यानि यह दावा भी गलत है कि दिल्ली की 9 सीटों पर बीजेपी उम्मीदवारों को 2000 मतों से हार का सामना करना पड़ा।

source: ECI

विश्वास न्यूज़ ने चुनाव विश्लेषक और इलेक्शन चस्का के एडिटर इन चीफ संजीव सिंह से बात की। उन्होंने हमें बताया, ‘ वायरल हो रहा दावा झूठ है। दिल्ली में सिर्फ दो ऐसी विधानसभा सीटें थी जहां जीत का मार्जिन सबसे कम था। पहली बिजवासन सीट और दूसरी लक्ष्मी नगर सीट जहां 880 वोटों से बीजेपी उम्मीदवार को जीत मिली।’

चुनाव आयोग के डेटा से भी सिंह के दावे की पुष्टि होती है, जिसे नीचे देखा जा सकता है।


Source: ECI

निष्कर्ष: दिल्ली विधानसभा चुनाव में 8 सीटों पर बीजेपी उम्मीदवारों के 100 मतों, 19 सीटों पर 1,000 मतों और 9 सीटों पर 2,000 मतों से हारने का दावा फर्जी और मनगढ़ंत है। दिल्ली में ऐसी कोई सीट नहीं थी, जहां उम्मीदवारों की जीत और हार का मार्जिन वायरल पोस्ट में किए गए दावे से मेल खाता हो।

  • Claim Review : BJP lost by less than: 100 votes: 8 Seats 1,000 votes:19 Seats 2,000 votes: 9 Seats Add this seat won 8 It comes to 44 seat
  • Claimed By : FB User- Harsh Vashisht
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later