X

Fact Check: श्रीनगर में अतिक्रमण हटाए जाने की मुहिम के वीडियो को जम्मू में रोहिंग्याओं के घरों को हटाए जाने के दावे के साथ किया जा रहा वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: June 13, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो को लेकर दावा किया जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर में रोहिंग्याओं ने रोशनी योजना के तहत अवैध रूप से बस्ती का निर्माण कर लिया था, जिसे अब हटाया जा रहा है।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। लेक्स एंड वाटरवेज डिवेलपमेंट अथॉरिटी (एलएडब्ल्यूडीए) की एनफोर्समेंट ईकाई की तरफ श्रीनगर के इलाके में अवैध निर्माण को हटाने के लिए विशेष मुहिम चलाई गई थी, जिसे गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘P Roy’ ने वायरल वीडियो को शेयर (आर्काइव लिंक) करते हुए लिखा है, ”जम्मू-कश्मीर में #रोहिंग्या #जेहादियों की रोशनी के तहत बसायी गई बस्ती उखाड़ी जा रही है…।”

सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कई अन्य लोगों ने इस वीडियो को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है। ट्विटर पर भी ‘@Doctorricha_IND’ हैंडल (आर्काइव लिंक) ने भी इस वीडियो को समान दावे से शेयर किया है।

https://twitter.com/Doctorricha_IND/status/1402886152969879554

पड़ताल

न्यूज सर्च में ऐसी कोई खबर नहीं मिली, जिसमें रोहिंग्याओं के अवैध कब्जे को गिराए जाने का जिक्र हो। वायरल हो रहे वीडियो में ‘JAMMU LINKS NEWS’ का लोगो नजर आ रहा है।

सर्च में हमें यह न्यूज वेबसाइट मिली, जहां पर हमें कई वीडियो बुलेटिन में यही वीडियो लगा मिला। रिपोर्ट के मुताबिक यह वीडियो श्रीनगर के लश्करी मोहल्ला एनएफआर और लाम ब्रेन इलाके में अवैध कब्जे को हटाने के लिए लेक्स एंड वाटरवेज डिवेलपमेंट अथॉरिटी (एलएडब्ल्यूडीए) की एनफोर्समेंट ईकाई की तरफ से चलाई गई मुहिम का वीडियो है।

jammulinksnews.com की वेबसाइट पर प्रकाशित खबर

Jammu Links News के आधिकारिक यू-ट्यूब चैनल पर 8 मई 2021 को अपलोड किए गए बुलेटिन में पूरे वीडियो को देखा जा सकता है, जिसके एक हिस्से को सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है

वीडियो बुलेटिन के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘लेक्स एंड वाटरवेज डिवेलपमेंट अथॉरिटी की प्रवर्तन ईकाई ने प्रवर्तन अधिकारी अब्दुल अजीज कादरी के निरीक्षण में श्रीनगर के लश्करी मोहल्ला एनएफआर और लाम ब्रेन इलाके में विशेष कब्जा हटाओ अभियान का नेतृत्व किया।’

न्यूज सर्च में हमें यह खबर इंडिया टुडे की वेबसाइट पर भी लगी मिली। 28 मई 2021 को प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक एलएडब्ल्यूडीए ने डल झील के इलाके में 170 अवैध ढांचें को गिरा दिया।

हमारे सहयोगी दैनिक जागरण के जम्मू के प्रभारी रिपोर्टर राहुल शर्मा ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि वायरल हो रहा वीडियो श्रीनगर के इलाकों में LAWDA की तरफ से अवैध अतिक्रमण को हटाने के लिए चलाए गए अभियान का है। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान लगे लॉकडाउन का फायदा उठाकर कुछ लोगों ने अवैध रूप से अतिक्रमण कर लिया था, जिसे अब हटाया जा रहा है।

वायरल वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर को फेसबुक पर करीब 11 हजार से अधिक लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: लेक्स एंड वाटरवेज डिवेलपमेंट अथॉरिटी (एलएडब्ल्यूडीए) की एनफोर्समेंट ईकाई की तरफ श्रीनगर के इलाके में अवैध निर्माण को हटाने के लिए विशेष मुहिम के वीडियो को जम्मू में रोहिंग्याओं की बस्ती को हटाने के दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : जम्मू में रोशनी के तहत रोहिंग्याओं की बसाई गई बस्ती को हटाया गया
  • Claimed By : FB User-P Roy
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later