X

Fact Check:रक्सौल विधानसभा से चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार प्रमोद सिन्हा के भाई के घर से 119 करोड़ रुपये के सोना की बरामदगी का दावा गलत

  • By Vishvas News
  • Updated: October 21, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण की तारीख नजदीक आने के साथ ही सोशल मीडिया पर चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रहे प्रत्याशियों से जुड़ी भ्रामक और फर्जी खबरें साझा की जा रही हैं। दावा किया जा रहा है कि रक्सौल विधानसभा से चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार प्रमोद सिन्हा के भाई के घर से 119 करोड़ रुपये का सोना बरामद हुआ है।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार प्रमोद सिन्हा के भाई के घर से सोना की बरामदगी हुई है, लेकिन इसकी कीमत करीब 10 करोड़ रुपये से अधिक है, न कि 119 करोड़ रुपये।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘Sonu Khan’ ने पोस्ट (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”बड़ी खबर…रक्सौल विधानसभा से बीजेपी उम्मीदवार के भाई के घर मिला 119 करोड़ का सोना…चोर चोर मौसेरे भाई।”

सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ वायरल हो रही पोस्ट

सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कई अन्य यूजर्स ने इस तस्वीर को समान दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (औरंगाबाद) के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल से किए गए पोस्ट (आर्काइव लिंक) में यही दावा किया गया है।

चुनाव आयोग की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, प्रमोद कुमार सिन्हा रक्सौल विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार है। इस सीट से वह अपना नामांकन भी दाखिल कर चुके हैं।

न्यूज सर्च में हमें ऐसी कई खबरें मिली, जिसमें इस घटना का जिक्र है। ‘दैनिक जागरण’ में 17 अक्टूबर को प्रकाशित खबर के मुताबिक, ‘जिले के रक्सौल से भाजपा उम्मीदवार प्रमोद सिन्हा के भाई के घर में शनिवार को छापेमारी हुई। भारत-नेपाल की सीमा से सटे पर्सा जिला की वीरगंज पुलिस ने छापेमारी कर शनिवार को भारी मात्रा में सोना और चांदी बरामद की।

खबर के मुताबिक, ‘गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने वीरगंज महानगरपालिका क्षेत्र के वार्ड 5 रेशम कोठी में स्थित गणेश अपार्टमेंट की तीसरी मंजिल पर 303 नंबर फ्लैट में छापेमारी की। इस दौरान अशोक सिन्हा के फ्लैट से 22 किलो 576 ग्राम सोना, 5 किलो 681ग्राम चांदी, 2किलो 262 ग्राम जेवर और बर्तन आदि बरामद हुए। एसपी पंत ने बताया कि फ्लैट में ताला बंद था। उक्त फ्लैट रक्सौल प्रखंड के हरैया गांव निवासी अशोक सिन्हा का है, जो रक्सौल विधानसभा भाजपा प्रत्याशी प्रमोद सिन्हा के अनुज हैं।’

दैनिक जागरण की वेबसाइट पर 17 अक्टूबर को प्रकाशित खबर

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘भाजपा प्रत्याशी ने बताया कि करीब पंद्रह साल पूर्व भाइयों का पारिवारिक बंटवारा हो चुका है। पिछले पंद्रह वर्षों से हम लोग अलग हैं। इससे मेरा कुछ लेना देना नहीं है। यह विरोधियों की साजिश भी हो सकती है। वहीं अशोक सिन्हा ने बताया कि मेरी पैतृक अचल सम्पति बिहार सरकार ने खरीदारी की है। जिस पर रक्सौल में पावर ग्रिड बना है। उसके लिए बिहार सरकार ने करोड़ों रुपये का भुगतान किया है। जिसके कागजात मेरे पास हैं।’

नेपाली अखबार ‘हिमालयन टाइम्स’ की वेबसाइट पर भी इस खबर का जिक्र है। हिमालयन टाइम्स की खबर के मुताबिक, नेपाल पुलिस ने बीरगंज के गणेश अपार्टमेंट में छापा मारकर करीब 22.5 किलोग्राम सोने को जब्त किया। खबर में डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस के हवाले से बताया गया है कि इस अपार्टमेंट में रहने वाले व्यक्ति भारतीय नागरिक हैं।

नेपाली अखबार हिमालयन टाइम्स की वेबसाइट पर 17 अक्टूबर को प्रकाशित खबर

‘प्रभात खबर’ की वेबसाइट पर 17 अक्टूबर को प्रकाशित खबर से इसकी पुष्टि होती है। रिपोर्ट के मुताबिक, ‘बिहार विधानसभा चुनाव में उतरी बीजेपी के लिए शनिवार को बड़ी खबर सामने आई। दरअसल, रक्सौल से बीजेपी प्रत्याशी प्रमोद कुमार सिन्हा के भाई अशोक सिन्हा के नेपाल के बीरगंज स्थित फ्लैट में छापेमारी में पुलिस ने 23 किलो सोना और दो किलो चांदी जब्त किया। पुलिस के मुताबिक, बरामद सामान की कीमत करोड़ों रुपए में है।’ 

विश्वास न्यूज ने बरामद कीमती धातुओं की मात्रा को लेकर पर्सा जिले की पुलिस अधीक्षक गंगा पंत से संपर्क किया। उन्होंने बताया, ‘छापेमारी में करीब 22.5 किलोग्राम सोना और दो किलोग्राम चांदी की बरामदगी हुई।’ हालांकि, उन्होंने इसकी अनुमानित कीमत के बारे में कोई जानकारी नहीं दी।

विश्वास न्यूज ने बाजार मूल्य के आधार पर जब्त किए गए सोना और चांदी की कीमतों का अनुमान लगाया, जो वायरल दावे से बिल्कुल मेल नहीं खाता है। छापेमारी में जब्त किए गए 22.5 किलोग्राम सोने की अनुमानित कीमत 19 अक्टूबर के भाव के मुताबिक (प्रति 10 ग्राम करीब 45,290 रुपये के आधार पर) भारतीय करेंसी में करीब 10 करोड़ रुपये 19 लाख रुपये से अधिक होती है। goldprice.org की वेबसाइट पर मौजूद भाव के आधार पर कीमतों का अनुमान लगाया गया है।

goldprice.org पर 20 अक्टूबर को सोने की कीमत

(भारत में सोना और चांदी की कीमतें शहरों के मुताबिक बदलती रहती हैं। इसलिए गणना में फर्क नजर आ सकता है।)

नेपाली करेंसी के आधार पर देखा जाए (19 अक्टूबर के एक्सचेंज रेट के आधार पर प्रति एक रुपया 1.59 रुपये नेपाली रुपये के बराबर) तो यह रकम करीब 16 करोड़ 20 लाख रुपये से अधिक होती है।

वहीं, दो किलोग्राम चांदी की अनुमानित कीमत (20 अक्टूबर की कीमत के आधार पर प्रति किलोग्राम 59,050 रुपये) करीब एक लाख 18 हजार रुपये होती है। नेपाली करेंसी में यह कीमत करीब एक लाख 80 हजार रुपये होती है।


goldprice.org पर 20 अक्टूबर को चांदी की कीमत

दोनों धातुओं की कीमत को मिलाकर देखा जाए यह रकम (भारतीय करेंसी में) दस करोड़ 20 लाख रुपये होती है, जबकि नेपाली करेंसी में इसकी अनुमानित कीमत करीब 16 करोड़ 22 लाख होती है, जबकि वायरल पोस्ट में 119 करोड़ रुपये के सोने की जब्ती का दावा किया गया है।

वायरल पोस्ट शेयर करने वाले यूजर ने अपनी प्रोफाइल में खुद को दल विशेष का सदस्य होने की जानकारी दी है।

निष्कर्ष:  रक्सौल विधानसभा से चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार प्रमोद सिन्हा के भाई के घर से 119 करोड़ रुपये का सोना बरामद किए जाने के दावे के साथ वायरल हो रही पोस्ट फर्जी है।

  • Claim Review : BJP उम्मीदवार प्रमोद सिन्हा के भाई के घर से 119 करोड़ रुपये के सोना की बरामदगी का दावा गलत
  • Claimed By : FB User-Sonu Khan
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later