X

Quick Fact Check : जवाहरलाल नेहरू की तस्‍वीर आपत्तिजनक दावे के साथ वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: May 8, 2020

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया में देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की एक पुरानी तस्‍वीर फर्जी और आपत्तिजनक दावे के साथ वायरल हो रही है। दावा यह भी किया जा रहा है कि तस्‍वीर में मोहम्‍मद अली जिन्‍ना भी दिख रहे हैं।

विश्‍वास टीम की पड़ताल में वायरल पोस्‍ट फर्जी है। देश के पहले प्रधानमंत्री को बदनाम करने के एक पुरानी तस्‍वीर का इस्‍तेमाल किया गया है। गालों पर नेहरू को चूमने वाली महिला उनकी भांजी नयनतारा हैं। जिस व्‍यक्ति को जिन्‍ना बताया जा रहा है, वो ब्रिटेन के तत्‍कालीन पीएम एंथोनी इडन हैं।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक यूजर Dinesh bhar ने 4 मई को एक फर्जी पोस्‍ट को अपलोड करते हुए लिखा : ”क्या इसी तरह आजादी की लड़ाई लड़ी थी।”

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में पता चला कि जवाहरलाल नेहरू की वायरल तस्‍वीर 1955 की है। तस्‍वीर लंदन के एयरपोर्ट की है। उस वक्‍त नेहरू को एयरपोर्ट पर रिसीव करने उनकी बहन विजयलक्ष्‍मी पंडित और उनकी बेटी यानी नेहरू की भांजी नयनतारा भी पहुंची थीं।

तस्‍वीर में जिस शख्‍स को जिन्‍ना बताया जा रहा है, दरअसल वे उस वक्‍त के ब्रिटिश पीएम एंथोनी इडन थे। यह तस्‍वीर 8 जुलाई 1955 की है।

वायरल पोस्‍ट को लेकर जब हमने कांग्रेस प्रवक्‍ता अखिलेश प्रताप सिंह से संपर्क किया तो उन्‍होंने बताया कि यह करतूत ट्रोल ऑर्मी की है। नेहरू शुरू से इनके निशाने पर रहे हैं।

पूरी पड़ताल यहां पढ़ें।

पड़ताल के अंत में हमने फर्जी पोस्‍ट करने वाले फेसबुक यूजर की जांच की। हमें पता चला कि दिनेश नाम के ये यूजर मुंबई में रहते हैं। इनके अकाउंट पर हमें कई वायरल पोस्‍ट मिले।

निष्कर्ष: विश्‍वास टीम की पड़ताल में पता चला कि जवाहरलाल नेहरू को गले लगने वाली महिला उनकी भांजी नयनतारा सहगल हैं, जो लंदन एयरपोर्ट पर अपनी मां विजयलक्ष्‍मी सहगल के साथ पहुंची थीं। वायरल पोस्‍ट में जिन शख्‍स को जिन्‍ना बताया जा रहा है, वो दरअसल ब्रिटेन के तत्‍कालीन प्रधानमंत्री एंथोनी इडन हैं।

  • Claim Review : नेहरू की तस्‍वीर को लेकर आपत्तिजनक दावा
  • Claimed By : फेसबुक यूजर Dinesh Bhar
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later