X

Fact Check : 7 एक्‍सरसाइज से कोरोना से बचने का दावा फर्जी है

  • By Vishvas News
  • Updated: May 7, 2021

विश्‍वास न्‍यूज (नई दिल्‍ली)। सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रही है। इसमें एक शख्‍स को यह दावा करते हुए देखा जा सकता है कि सात एक्‍सरसाइज से कोरोना से बचा जा सकता है। विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की जांच की। यह फर्जी साबित हुई।

विश्‍वास न्‍यूज की जांच में पता चला कि मध्‍य प्रदेश के ग्‍वालियर के सीएमएचओ डॉक्‍टर मनीष शर्मा ने एक वीडियो के माध्‍यम से ऐसा दावा किया था। बाद में उन्‍हें विभाग की ओर से नोटिस भी जारी किया गया था। हमारी जांच में वायरल पोस्‍ट फर्जी साबित होती है।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक यूजर मोलिक सूद ने 21 अप्रैल को ‘गुना जीतेगा कोरोना हारेगा’ नाम के ग्रुप में एक वीडियो को अपलोड करते हुए लिखा : ‘कोरोना से अब डरें नही, सिर्फ 30 सैकंड, 👆7 exercise…By CMHO Gwalior Dr Manish ji Sharma’

वीडियो में ग्‍वालियर के सीएमएचओ की ओर से दावा किया जा गया कि इन सात एक्‍सरसाइज करने से कोरोना होगा ही नहीं।

फेसबुक पोस्‍ट का आर्काइव्‍ड वर्जन यहां देखें।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की जांच के लिए सबसे पहले गूगल सर्च की मदद ली। संबंधित कीवर्ड टाइप करके सर्च करने पर हमें नईदुनिया डॉट कॉम पर एक खबर मिली। 7 अक्‍टूबर 2020 को पब्लिश इस खबर में बताया गया कि ग्‍वालियर के सीएमएचओ डॉ. मनीष शर्मा का एक वीडियो वायरल होने पर डॉ. संजय गोयल, आयुक्त स्वास्थ्य सेवाएं द्वारा नोटिस थमाया गया। वीडियो में सीएमचओ डॉ. मनीष शर्मा ने कलेक्ट्रेट में योगा के सात प्रक्रियाओं के बारे में बताया था। जिनको करने पर कोरोना न होने का दावा भी किया था। जब वह उन प्रक्रियाओं को बता रहे थे तब उनका कुछ लोगों ने मोबाइल से वीडियो भी बनाया, जो तेजी से वायरल हुआ और कई न्यूज चैनल पर चला, लेकिन कुछ डॉक्टरों ने सीएमचओ द्वारा किए गए दावे की वैज्ञानिक प्रमाणिकता न होने की बात कही। यह बात जब भोपाल स्वास्थ्य महकमे में पहुंची तो स्वास्थ्य आयुक्त डॉ.संजय गोयल ने सीएमएचओ को भ्रमक जानकारी आमजन में फैलाने व महकमे की छवि खराब होने का हवाला देते हुए पदीय दायित्वों का ठीक से निर्वहन न करने की बात कही। सीएमएचओ के इस आचरण को उन्होंने कदाचरण की श्रेणी में बताया। पूरी खबर यहां पढ़ें।

तहीकात के दौरान हमें मध्‍य प्रदेश के हेल्‍थ डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर एक नोटिस मिला। इसे पेज नंबर 76 पर देखा जा सकता है। इसमें डॉक्‍टर मनीष शर्मा को 3 अक्‍टूबर 2020 को एक नोटिस जारी करते हुए लिखा गया कि योगा की सात प्रक्रियाओं को पत्रकारों के समक्ष दर्शाते हुए कोरोना न होने संबंधी वक्‍तव्‍य दिया गया, जो पूर्णत अप्रमाणित एवं आईसीएमआर भारत व राज्‍य शासन की गाइडलाइन के अनुरूप न होकर भ्रामक है। पूरा नोटिस यहां पढ़ें।

पड़ताल के अगले चरण में विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल वीडियो में दिख रहे ग्‍वालियर के सीएमएचओ मनीष शर्मा से बात की। उन्‍होंने बताया कि इस वीडियो के लिए उन्‍हें नोटिस जारी हुआ था। जिसका जवाब दे दिया गया था।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए विश्‍वास न्‍यूज ने अलग-अलग डॉक्‍टरों से वायरल वीडियो की सच्‍चाई जाननी चाहिए। आइआइटी-बीएचयू के सिरामिक एंड हाइड्रोजन साइंटिस्ट डॉ. प्रीतम सिंह कहते हैं कि वीडियो में जैसा दावा किया जा रहा है, वैसा लॉजिकल तो बिल्कुल नही है। हैंड एक्सरसाइज है, लेकिन कोरोना कैसे रोकेगा,ये तो बताये ही नही।

ब्रेथ ईजी अस्‍पताल के चेस्ट व टीबी रोग विशेषज्ञ डॉ. एस के पाठक कहते हैं कि यह वीडियो फर्जी है। इस अभ्यास का मेडिकल साइंस से कोई लेना-देना नहीं है।

पड़ताल के अंत में विश्‍वास न्‍यूज ने फर्जी पोस्‍ट को वायरल करने वाले यूजर की जांच की। फेसबुक यूजर मोलिक सूद की सोशल स्‍कैनिंग से हमें जानकारी मिली कि यूजर गुना का रहने वाला है। इस अकाउंट को मई 2015 में बनाया गया था।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में वायरल पोस्‍ट फर्जी साबित हुई। वीडियो में बताई गई एक्‍सरसाइज से कोरोना नहीं होगा, यह दावा पूरी तरह गलत है।

  • Claim Review : सात एक्‍सरसाइज से कोरोना नहीं होगा
  • Claimed By : फेसबुक यूजर मोलिक सूद
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later