X

Fact Check: महात्मा गांधी और सावरकर की बातचीत का यह दृश्य ‘वीर सावरकर’ मूवी का है, ‘गांधी’ का नहीं

सोशल मीडिया पर वायरल दृश्य ‘वीर सावरकर’ मूवी का है, ‘गांधी’ फिल्म का नहीं। यह मूवी 2001 में रिलीज हुई थी। उस समय अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री थे।

  • By Vishvas News
  • Updated: October 14, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर 4.51 सेकंड का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें महात्मा गांधी और वीर सावरकर का किरदार निभा रहे कलाकारों की बातचीत दिख रही है। वीडियो शेयर कर यूजर्स दावा कर रहे हैं कि वायरल दृश्य 1982 में बनी फिल्म ‘गांधी’ का है।

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल दावा भ्रामक है। वायरल दृश्य 2001 में बनी ‘वीर सावरकर’ मूवी का है। इसका निर्देशन वेद राही ने किया है।

क्या है वायरल पोस्ट

फेसबुक यूजर Dhiren Gupta (आर्काइव लिंक) ने 6 अक्टूबर को वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा,

प्रस्तुत है 1982 में बनी “गांधी” फिल्म का एक दृश्य
वीर सावरकर और गांधी के बीच संवाद! सावरकर जी के विचारों की सच्चाई, दृढ़ता और उनका आत्मविश्वास और गांधी की आत्मविश्वास और तर्क विहीन, संशय भरी वाणी और जवाब नहीं होने पर सच्चाई से भागने की प्रवृत्ति साफ साफ दृष्टिगत होती है… कृपया ज़रूर सुने
ध्यान रहे यह फिल्म RSS या BJP वालों ने नहीं बल्कि विश्व प्रसिद्ध ब्रिटिश फ़िल्म निर्माता रिचर्ड एटनबरो ने काफी रिसर्च और अध्ययन कर के उस समय के सरकार के रजामंदी से बनाई थी! तब कांग्रेस की नेता इंदिरा गांधी देश की प्रधानमंत्री थी!

पड़ताल

वायरल दावे की पड़ताल के लिए हमने गूगल के इनविड टूल से इसका कीफ्रेम निकालकर उसे गूगल रिवर्स इमेज से सर्च किया। इसमें हमें tattvaanveShaNam prakAsha यूट्यूब चैनल पर वायरल वीडियो मिल गया। इसे 4 अप्रैल 2011 को अपलोड किया गया है। इसके डिस्क्रिप्शन में लिखा है, ‘वीर सावरकर’ मूवी के एक दृश्य में रत्नागिरी में सावरकर और महात्मा गांधी की मुलाकात।

Classic Vintage Movies के यूट्यूब चैनल पर अपलोड ‘वीर सावरकर’ मूवी में 2 घंटे 30 मिनट के बाद वायरल वीडियो को देखा जा सकता है। इसका टाइटल है, Veer savarkar 2001। इसके डायरेक्टर वेद राही हैं।

आईएमडीबी वेबसाइट के मुताबिक, ‘वीर सावरकर‘ मूवी 2001 को रिलीज हुई है। इसके लेखक व डायरेक्टर वेद राही हैं। अगर गांधी मूवी की बात करें तो वह 1982 में रिलीज हुई थी। उसे रिचर्ड एटनबरो ने डायरेक्ट किया था।

इस बारे में मुंबई में एंटरटेनमेंट के स्वतंत्र पत्रकार अजय गर्ग का कहना है, ‘वायरल वीडियो ‘गांधी’ मूवी का नहीं है। 2001 में ‘वीर सावरकर’ पर आघारित फिल्म आई थी। यह दृश्य उसी मूवी का है।

जागरण जोश में 18 अगस्त 2022 को छपी रिपोर्ट के अनुसार, 2001 में अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे।

भ्रामक पोस्ट करने वाले फेसबुक यूजर ‘धीरेन गुप्ता‘ की प्रोफाइल को हमने स्कैन किया। इसके मुताबिक, वह नोएडा में रहते हैं।

निष्कर्ष: सोशल मीडिया पर वायरल दृश्य ‘वीर सावरकर’ मूवी का है, ‘गांधी’ फिल्म का नहीं। यह मूवी 2001 में रिलीज हुई थी। उस समय अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री थे।

  • Claim Review : वायरल दृश्य 1982 में बनी फिल्म 'गांधी' का है।
  • Claimed By : FB User- Dhiren Gupta
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later