X

Fact Check : वृंदावन में पुजारी के आपसी झगड़े को सांप्रदायिक एंगल से किया जा रहा है वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: May 13, 2020

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। सोशल मीडिया में कुछ तस्‍वीरों को वायरल करते हुए दावा किया जा रहा है कि यूपी के वृंदावन में एक हिन्दू पुजारी को मुसलमानों ने बेरहमी से मारा।

विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में दावा फर्जी निकला। जांच में पता चला कि वृंदावन में एक पुजारी पर हमला तो हुआ था, लेकिन हमलावर मुस्लिम नहीं, बल्कि उसी संप्रदाय से जुड़े हुए हैं, जिससे पुजारी आते हैं।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक पेज Pandit Vishnu Jaiman ने 12 मई को घायल पुजारी की कुछ तस्‍वीरों को अपलोड करते हुए दावा किया : ”वृन्दावन के वैष्णव हिन्दू पुजारी को #मुसलमानों ने बेरहमी से मारा..ye ak godiya vaishnav bhagwan ke bhakt hai jiske sath jihadiyo ne bahut bura saluk kiaa kab tak ye jihadi log humare sanatan dharam pe ase atychar karte rahinge me thukta hu un hinduyo pe jo jikar bhi apne sanatan dharam ko nahi bacha sakte 😪😔 sote raho hinduyo sote raho.”

TOP 10 BEST 20 नाम के ब्‍लॉग ने भी वृन्दावन की घटना को मुसलमानों से जोड़कर लिखा है। 11 मई को पब्लिश खबर में दावा किया गया : मथुरा वृन्दावन के वैष्णव हिन्दू पुजारी पर निर्मम तरीके से विशेष समुदाय के लोगो ने हमला किया… ऐसा कब तक होगा??

पड़ताल

सच जानने के लिए विश्‍वास न्‍यूज ने सबसे पहले दैनिक जागरण के मथुरा संस्‍करण के ईपेपर को खंगालना शुरू किया। हमें अलग-अलग तारीखों पर दो खबरें मिलीं। पहली खबर 12 मई को प्रकाशित की गई थी। खबर में बताया गया कि वृंदावन के इमलीतला आश्रम के एक कमरे पर कब्‍जे को लेकर लंबे समय से चले आ रहे विवाद में सुरक्षा गार्ड ने तीन साधुओं के साथ मिलकर एक साधु की पिटाई कर दी। घायल साधु को इससे पहले भी पीटा गया था। इस साधु का नाम तमालकृष्‍ण दास है। पूरी खबर आप यहां पढ़ सकते हैं।

इसी तरह हमें 13 मई के अखबार में एक खबर मिली। इसमें बताया गया कि इमलीतला आश्रम में साधु तमालकृष्‍ण दास पर हुए जानलेवा हमने के मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके एक आरोपित को दबोच लिया है, जबकि तीन हमलावरों की तलाश जारी है।

खबर के अनुसार, आश्रम के ही एक साधु अरविंद दास की तहरीर पर आश्रम में रहने वाले दूसरे साधु गौतम भौमिक, जगन्‍नाथ दास, सच्चिदानंद दास और चौकीदार गोविंद सिंह पर कमरे में रखे 1.75 लाख रुपए लूटने व विरोध करने पर लाठी-डंडा व सरिया से जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया गया है।

इस मामले में पुलिस ने आरोपित सच्चिदानंद को हिरासत में लिया गया है और बाकी आरोपितों की तलाश जारी है। पूरी खबर यहां पढ़ें।

पड़ताल के दौरान हम मथुरा पुलिस के ट्विटर हैंडल पर गए। वहां हमें पुलिस का एक खंडन मिला। इसमें बताया गया कि 11 मई को शाम को इमलीतला मठ में तमालदास के साथ गोविंदा सच्चिदानंद व सिक्‍युरिटी गार्ड गोविंद सिंह ने मारपीट की थी। तमालदास को मथुरा के जिला अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है।

हमें मथुरा पुलिस के ट्विटर हैंडल पर पुलिस का बयान भी मिला। वीडियो में क्षेत्राधिकारी सदर रमेश चंद्र तिवारी ने पूरे मामले की जानकारी देते हुए बताया कि आरोपितों को छोड़ा नहीं जाएगा। मुख्‍य अभियुक्‍त सच्चिदानंद को पकड़ लिया गया है। पूरा वीडियो आप यहां देख सकते हैं।

विश्‍वास न्‍यूज से बातचीत में कोतवाली प्रभारी इंस्‍पेक्‍टर संजीव दुबे ने बताया कि वायरल पोस्‍ट के साथ किया जा रहा दावा झूठा है। पूरा मामला आपसी विवाद का है। मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

अंत में हमने उस अकाउंट की जांच की, जिसने फर्जी खबर फैलाई। हमें पता चला कि फेसबुक पेज Pandit Vishnu Jaiman को 13 अप्रैल 2020 को बनाया गया था। इसे 117 लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में ‘वृंदावन में पुजारी पर मुसलमानों ने किया हमला’ वाली वायरल पोस्‍ट फर्जी निकली। 11 मई को मठ के ही दूसरे साधु ने एक साधु पर हमला किया था। घटना में कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है।

  • Claim Review : वृन्दावन के वैष्णव हिन्दू पुजारी को #मुसलमानों ने बेरहमी से मारा..
  • Claimed By : फेसबुक पेज Pandit Vishnu Jaiman
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later