X

Fact Check: दिल्ली में कांग्रेस ने 66 सीटों पर लड़ा था चुनाव, 70 सीटों पर जमानत जब्त होने का दावा फर्जी

  • By Vishvas News
  • Updated: February 13, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। दिल्ली चुनाव के नतीजे आने के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे कई पोस्ट में दावा किया गया है कि विधानसभा की सभी 70 सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। दिल्ली में 70 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस ने चुनाव नहीं लड़ा था, ऐसे में सभी सीटों पर जमानत जब्त होने के दावे के साथ वायरल हो रही पोस्ट फर्जी है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पर वायरल हो रहे पोस्ट में दावा किया गया है, ”कांग्रेस ने दिल्ली में बनाया ऐतिहासिक रिकॉर्ड। 70 में से 70 सीटों पर जप्त हुई जमानत।”

फेसबुक पर वायरल हो रही पोस्ट का स्क्रीन शॉट

फेसबुक यूजर दीपक हिंदू (Deepak Hindu) ने इस खबर को डॉ. संबित पात्रा फैन क्लब में शेयर किया है, जिसे करीब 3000 से अधिक लोगों ने शेयर किया है। इसी खबर को फेसबुक पेज ‘Modi सरकार’ पर भी शेयर किया गया है, जिसे करीब 8000 से अधिक लोगों ने शेयर किया है।

(फेसबुक पोस्ट का सामान्य और आर्काइव लिंक)

पड़ताल

दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों के लिए 8 फरवरी को चुनाव हुए थे और 11 फरवरी को इसके नतीजे आएं। चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) को 62 सीटें मिलीं, जबकि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को 8 सीटें। वहीं कांग्रेस का इस चुनाव में खाता भी नहीं खुला।

Source-ECI

वायरल पोस्ट के दावे की सत्यता को जांचने के लिए हमने चुनाव आयोग के आंकड़ों को खंगाला। आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस ने 66 सीटों पर ही चुनाव लड़ा था।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया, ‘हमने दिल्ली की 70 में से 66 सीटों पर चुनाव लड़ा था और चार सीटें अपने सहयोगी दलों के लिए छोड़ रखी थी।’

दिल्ली विधानसभा की तीन सीटें ऐसी रहीं, जहां कांग्रेस के उम्मीदवारों की जमानत जब्त होने से बच गई। तीनों उम्मीदवारों, अरविंदर सिंह लवली, देवेंदर यादव और अभिषेक दत्त को करीब 20 फीसदी या उससे अधिक मत मिले।


Source-Election Commission of India

यानी कांग्रेस ने कुल 66 सीटों पर चुनाव लड़ा और तीन सीटों पर उसके उम्मीदवारों की जमानत जब्त होने से बच गई। पार्टी प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा, ‘पार्टी ने जब चुनाव ही 66 सीटों पर लड़ा तो 70 सीटों पर जमानत जब्त होने का सवाल कहां से आ गया।’

गठबंधन के तहत कांग्रेस ने 4 सीटें अपने सहयोगी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) को दी थी, जिसे नीचे दिए गए टेबल में देखा जा सकता है।

Source-Election Commission of India

आंकड़ों के मुताबिक पालम, बुराड़ी, किराड़ी और उत्तम नगर समेत चारों सीटों पर राष्ट्रीय जनता दल के उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई।

अगर किसी उम्मीदवार को कुल वैध मतों के छठे हिस्से से कम मत मिलता है, तो चुनाव आयोग उसकी तरफ से दी गई जमानत राशि को जब्त कर लेता है।

अगर गठबंधन को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस और सहयोगी राष्ट्रीय जनता दल की सीटों को मिलाकर भी देखा जाए तो भी 70 में से 67 सीटों पर ही उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई, जबकि वायरल पोस्ट में 70 सीटों पर उम्मीदवारों के जमानत जब्त होने का दावा किया गया है।

विश्वास न्यूज ने इसे लेकर दिल्ली कांग्रेस के चुनाव प्रचार समिति के चेयरमैन कीर्ति आजाद से संपर्क किया। हालांकि, उन्होंने इस बारे में कोई भी जानकारी होने से इनकार करते हुए कहा, ‘चुनाव आयोग के आंकड़ें सामने हैं, वहां से इस बारे में पता लगाया जा सकता है।’

आयोग के आंकड़ों के मुताबिक अधिकांश सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवारों को पांच फीसदी से भी कम वोट मिला। पार्टी की प्रचार समिति के चेयरमैन कीर्ति आजाद की पत्नी पूनम आजाद को मात्र  2.23 फीसदी मत मिले और वह अपनी जमानत भी नहीं बचा पाईं।

कई सारे न्यूज रिपोर्ट्स में भी इसका जिक्र है। अंग्रेजी अखबार ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ ने न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के हवाले से बताया है कि दिल्ली में कांग्रेस के 63 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई।

‘Modi सरकार’ पेज पर विचारधारा विशेष से जुड़ी हुई खबरें शेयर की जाती है। इस पेज को करीब 77,000 से अधिक लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: दिल्ली विधानसभा चुनाव में 70 सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवारों की जमानत जब्त होने का दावा गलत है। कांग्रेस ने 70 में से 66 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से 63 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई।

  • Claim Review : दिल्ली में 70 में से 70 सीटों पर कांग्रेस की जमानत जब्त
  • Claimed By : FB User-Modi सरकार
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

  • वॅाट्सऐप नंबर 9205270923
  • टेलीग्राम नंबर 9205270923
  • ईमेल contact@vishvasnews.com
जानिए वायरल खबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later