X

Fact Check: बिहार के मधुबनी में दो साधुओं की हत्या में नहीं था कोई सांप्रदायिक एंगल

  • By Vishvas News
  • Updated: April 29, 2021

नई दिल्ली (Vishvas News)। सोशल मीडिया पर एक टेक्स्ट क्लेम वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि लव जिहाद का विरोध करने पर मधुबनी में 2 मंदिर के पुजारियों की हत्या कर दी गयी। पोस्ट को सांप्रदायिक रंग देकर शेयर किया जा रहा है। विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में दावा गलत निकला। असल मामला लूटपाट से संबंधित था। इस मामले में गिरफ्तार हुआ आरोपी हिन्दू समुदाय से ही है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

वायरल टेक्स्ट में लिखा है, “बिहार के मधुबनी में दो साधुओं की गला काटकर हत्या कर दी गई !! खबर है कि उन्होंने मंदिर आने वाले मुस्लिम लड़कों व हिन्दू लड़कियों को घुसने से रोक दिया था !! #लवजिहाद”

इस पोस्ट का आर्काइव लिंक यहां देखें।

कुछ जगह लिखा है, “बिहार के मधुबनी में धरोहर नाथ मंदिर में सोए हुए दो साधुओं की गला काटकर हत्या कर दी गई, क्योंकि उन्होंने लव जिहाद का विरोध किया था”

इन पोस्ट्स का आर्काइव्ड वर्जन यहां और यहां देखा जा सकते है।

पोस्ट फेसबुक पर भी काफी वायरल है। आर्काइव लिंक यहां देखें।

पड़ताल

हमने वायरल क्लेम की जांच के लिए इंटरनेट पर कीवर्ड सर्च का सहारा लिया। हमें दैनिक जागरण की एक खबर मिली, जिसमें यह मामला विस्तार से बताया गया था। खबर के अनुसार, “खिरहर थाना क्षेत्र के ऐतिहासिक धरोहर नाथ महादेव मंदिर खिरहर के दो साधुओं की कुदाल से गला काटकर निर्मम हत्या मामले की जांच करने मधुबनी एसपी डॉ. सत्यप्रकाश खिरहर पहुंचे। उन्होंने स्थानीय लोगों व मंदिर परिसर में मौजूद ग्रामीणों से घटना के पूरी जानकारी ली। एसपी को लोगों ने बताया कि घटना के बाद दीपक चौधरी वहां मौजूद था। उसकी मानसिक स्थिति कुछ ठीक नहीं रहती है। हमेशा गांजा व भांग के नशे में मंदिर परिसर में मौजूद रहता था। हो सकता है उसका साधुओं के साथ किसी बात पर झगड़ा हुआ होगा और आक्रोश में उसने दोनों साधुओं की हत्या कर दी हो। घटना के बाद पुलिस ने दीपक चौधरी के घर छापेमारी भी की। जहां से खून लगा कुदाल व टेंगारी बरामद हुआ है। मंदिर परिसर में तीन साधु एक साथ सोये हुए थे। जिनमें दो की गला काटकर हत्या कर दी गई है। पुलिस तीसरे साधु को पूछताछ के लिए थाने ले गई। ग्रामीणों ने अपराधी दीपक चौधरी की पहचान कर ली है।”

हमें इस घटना को लेकर एक खबर टाइम्स ऑफ़ इंडिया पर भी मिली। यहां आरोपी का नाम दिलीप चौधरी बताया गया था।

इस मामले को लेकर एक खबर हमें हिन्दुस्तान टाइम्स पर भी मिली। यहां भी आरोपी का नाम दीपक चौधरी ही बताया गया था।

इनमें से किसी भी खबर में इस घटना में कोई सांप्रदायिक एंगल होने का जिक्र नहीं था।

इस विषय में ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने दैनिक जागरण मुजफ्फरपुर के इनपुट हेड दिलीप कुमार जायसवाल से संपर्क साधा। उन्होंने हमें बताया, “मधुबनी के खिरहर थाना क्षेत्र में खिरहर गांव स्थित धरोहरनाथ महादेव मंदिर में 20 अप्रैल की रात दो साधुओं की हत्या में लव जेहाद का मामला नहीं है। पकड़ा गया हत्या रोपी दीपक चौधरी दोनों साधुओं से पैसे मांगता था। नहीं देने पर कुदाल से काटकर हत्या कर दी थी। पुलिस हत्याद में प्रयुक्तु कुदाल और खून लगे कपड़े बरामद कर चुकी है। हत्याकरोपी पैसों को लेकर हत्याल की बात स्वी कार कर चुका है।”

अब बारी थी फेसबुक पर इस पोस्ट को साझा करने वाले यूजर ‘Bhavesh Chudasama’ के प्रोफाइल को स्कैन करने का। प्रोफाइल को स्कैन करने पर हमने पाया कि यूजर के फेसबुक पर 3,711 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में दावा गलत निकला। असल मामला लूटपाट से संबंधित था। इस मामले में गिरफ्तार हुआ आरोपी हिन्दू समुदाय से ही है। मामले में कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं था।

  • Claim Review : बिहार के मधुबनी में दो साधुओं की गला काटकर हत्या कर दी गई !! खबर है कि उन्होंने मंदिर आने वाले मुस्लिम लड़कों व हिन्दू लड़कियों को घुसने से रोक दिया था !! लवजिहाद
  • Claimed By : Bhavesh Chudasama
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later