X

Fact Check: बालों वाले मेंढक की यह तस्वीर एक आर्टवर्क है, कोई असली जानवर नहीं

विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा भ्रामक है। तस्वीर में दिख रहा मेंढक कोई असली जानवर नहीं, बल्कि एडिटिंग टूल्स के इस्तेमाल से तैयार की गयी तस्वीर है। हालांकि, यह बात सही है कि हॉरर फ्रॉग नाम का एक मेंढक होता है, जो बहुत आक्रामक होता है। मगर वायरल तस्वीर में दिख रहा मेंढक ‘हॉरर फ्रॉग’ नहीं है।

  • By Vishvas News
  • Updated: June 25, 2021

नई दिल्ली, विश्वास न्यूज़। सोशल मीडिया पर आज कल एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें बालों वाले एक मेंढक को देखा जा सकता है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है, “इस मेंढक को ‘हॉरर फ्रॉग’ कहा जाता है और यह मेंढक इतना आक्रामक होता है कि वह अपनी ही हड्डियों को तोड़ देता है और उसे अपनी त्वचा के माध्यम से बलपूर्वक हमला करने के लिए पंजों के रूप में उपयोग करता है।” विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा भ्रामक है। तस्वीर में दिख रहा मेंढक कोई असली जानवर नहीं, बल्कि एडिटिंग टूल्स के इस्तेमाल से तैयार की गयी तस्वीर है। हालांकि, यह बात सही है कि हॉरर फ्रॉग नाम का एक मेंढक होता है, जो बहुत आक्रामक होता है, मगर वायरल तस्वीर में दिख रहा मेंढक  ‘हॉरर फ्रॉग’ नहीं है।

क्या है वायरल पोस्ट में

Healthy-facts नाम के यूजर ने इस पोस्ट को शेयर किया। तस्वीर के ऊपर लिखा था “The frog known as the “Hairy Frog”, “Horror Frog”, or the “Wolverine Frog” is so aggressive it will literally break its own bones, force them through the skin, then use them as claws to attack; even humans.” जिसका हिंदी अनुवाद होता है, “हॉरर फ्रॉ’ के रूप में जाना जाने वाला मेंढक इतना आक्रामक है कि यह सचमुच अपनी हड्डियों को तोड़ देगा, यह त्वचा से बाहर निकलने के लिए बल का प्रयोग करता है, फिर उन्हें इंसानों पर हमले के लिए भी पंजे के रूप में उपयोग करता है। “

 इस पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

वायरल दावे की पड़ताल के लिए हमने सबसे पहले इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज की सहायता से सर्च किया। हमें यह तस्वीर www.designcrowd.com/ पर मिली। यहां मौजूद जानकारी के अनुसार, इस वेबसाइट ने एक फोटोशॉप प्रतियोगिता आयोजित की थी, जहां प्रतिभागियों को चीज़ों पर बालों को एडिट करके एक रचनात्मक आर्ट डिजाइन करना था। वायरल तस्वीर को ‘Todd1000’ नाम के एक ग्राफिक डिजाइनर ने एडिटिंग सॉफ्टवेयर फोटोशॉप का इस्तेमाल करके बनाया था। इस बालों वाले मेंढक की तस्वीर को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

इस जानकारी से यह तो साफ़ हो गया था कि वायरल तस्वीर किसी असली मेंढक की नहीं है, मगर अब हमें जानना था कि क्या हॉरर फ्रॉग जैसा कोई मेंढक है भी या नहीं।

newscientist.com/  के एक आर्टिकल के अनुसार Trichobatrachus रोबस्टस या हॉरर फ्रॉग मेंढक की एक प्रजाति है, जो खतरा महसूस होने पर सक्रिय रूप से अपनी हड्डियों को तोड़कर पंजे का निर्माण करता है। यहां मौजूद मेंढक की तस्वीर वायरल तस्वीर से बिल्कुल अलग थी।

nationalgeographic.com पर भी हॉरर फ्रॉग के बारे में यही जानकारी मौजूद है। यहां लिखी जानकारी के अनुसार, “पंजे वाला यह हॉरर फ्रॉग आर्थ्रोलेप्टिडे नामक परिवार से संबंधित है, जो एक सदी से भी अधिक समय पहले मध्य अफ्रीका में खोजे गए थे।”

हमने इस विषय में ज़्यादा जानकारी के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी के गार्गी कॉलेज की जूलॉजी डिपार्टमेंट की एचओडी उमा गांगुली से संपर्क साधा। उन्होंने हमें बताया, “यह तस्वीर हॉरर फ्रॉग के नाम से जाने जाने वाले Trichobatrachus Robustus की नहीं है। Trichobatrachus Robustus के शरीर पे थाई के पास छोटे कंटीले बाल होते हैं, जबकि वायरल तस्वीर में दिख रहे मेंढक के ऊपर दिख रहे बाल लम्बे और रेशमी हैं। ये बात सही है कि यह स्पेशीज आक्रामक होती है और आक्रोश में आने पर अपनी हड्डियों को पंजे से निकाल कर हमला कर सकते हैं।”

वायरल दावे को Colleen Fields नाम के फेसबुक यूजर ने जून 21 पोस्ट किया था। यूजर ने अपनी पर्सनल जानकारी को हाइड कर रखा है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा भ्रामक है। तस्वीर में दिख रहा मेंढक कोई असली जानवर नहीं, बल्कि एडिटिंग टूल्स के इस्तेमाल से तैयार की गयी तस्वीर है। हालांकि, यह बात सही है कि हॉरर फ्रॉग नाम का एक मेंढक होता है, जो बहुत आक्रामक होता है। मगर वायरल तस्वीर में दिख रहा मेंढक ‘हॉरर फ्रॉग’ नहीं है।

  • Claim Review : The Hairy or Horror Frog. Also known as Wolverine Frog - found in Central Africa.
  • Claimed By : Colleen Fields
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later